Gurugram में जुमे की Namaz का विरोध, नमाज़ियों के सामने लगाए गए जय श्रीराम के नारे

0
298

किसी चीज़ की रोक होने पर भी अगर वो काम किया जाए तो उसे रोकने के लिए पुलिस आगे आती है लेकिन समाज में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो कानून को हाथ में लेने से नहीं डरते हैं। Delhi से सटे हरियाणा के Gurugram जिले में खुले में Namaz पर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है।

3 दिसंबर को सेक्टर-37 में Namaz पढ़ने पहुंचे लोगों को कथित तौर पर विरोध का सामना करना पड़ा। हालांकि, इस दौरान पुलिस ने Namaz का विरोध कर रहे लोगों को जबरन वहां से हटा दिया। इस दौरान कुछ लोगों को हिरासत में भी लिए जाने की सूचना है। हिंदू संगठनों के लोगों ने खुले में Namaz नहीं पढ़ने को लेकर जय श्रीराम के नारे लगाए। यहां तक Namaz स्थल पर पहुंचकर उन्हें Namaz पढ़ने से भी रोक दिया।

ख़बर की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने विरोध करने वालों को वहां से हटाया, तब जाकर Namaz पढ़ी जा सकी। वहीं, मुफ्ती मोहम्मद सलीम अंसारी ने कहा कि सेक्टर-37 में दो जगहों पर पढ़ी जाने वाली Namaz को रोका गया था, लेकिन उनके समाज के कुछ लोग Namaz पढ़ने पर जोर रहे हैं। शहर में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए गुरुवार को वह पुलिस कमिश्नर से भी मिले थे। उन्होंने भी भरोसा दिलाया था कि चिहिंत स्थानों पर Namaz पढ़ने में कोई दिक्कत नहीं आएगी और वहां विरोध भी नहीं होगा। इसके लिए पुलिस सहयोग करेगी।

ऐसा नहीं है कि खुले में Namaz के विरोध का यह कोई पहला मामला है। इससे पहले अक्टूबर महीने में भी सेक्टर-47 में खुले में Namaz पढ़ने के विरोध में कुछ स्थानीय लोगों ने Namaz स्थल के पास भजन-कीर्तन के जरिए विरोध जताया था। मामले की जानकारी मिलते ही भारी पुलिस बल के साथ वरिष्ठ अधिकारी तुरंत मौके पर पहुंच गए। उन्होंने विरोध करने वालों को समझाने का प्रयास किया। स्थानीय लोगों का कहना था कि जब तक खुले में Namaz पढ़ने पर रोक नहीं लग जाती तब तक उनका विरोध जारी रहेगा। सेक्टर-47 के RWA प्रधान सुनील यादव ने कहा था कि खुले में Namaz पढ़ने से माहौल खराब हो रहा है।

यह भी पढ़ें – Congress की जो हालत है, जनता उनको नकार देगी:Akhilesh Yadav

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है