रविवार को ट्रैफिक के लिए बंद रहेगी Pragati Maidan टनल

0
146

रविवार को अगर आप भी Pragati Maidan टनल देखना चाहते हैं तो ये ख़बर ज़रूर पढ़ लें। Pragati Maidan टनल को अब हर रविवार वाहनों की आवाजाही के लिए बंद कर दिया जाएगा। ऐसा इसलिए किया जाएगा ताकि लोग इसकी दीवारों पर बनी पेंटिंग देख सकें। इस टनल का उद्घाटन 19 जून 2022 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था। उन्होंने ही उद्घाटन करते समय सुझाव दिया था जिसपर अधिकारियों ने यह फैसला लिया है।

Pragati Maidan के नीचे से गुज़रते हुए 1.3 किलोमीटर लंबी सुरंग मथुरा रोड को रिंग रोड से जोड़ती है। इसमें मंडला शैली की कला के साथ कश्मीर से कन्याकुमारी तक देश के विभिन्न हिस्सों में भारत की संस्कृति, वनस्पति-जीव, राशि चिन्ह और छह मौसमों को दर्शाते हुए बड़ी संख्या में पेंटिंग बनाई गई है।

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने शुक्रवार(24 जून) को एडवाइजरी जारी करते हुए ट्वीट किया, ‘Pragati Maidan टनल रविवार यानी 26 जून को वाहनों के आवागमन के लिए बंद रहेगा। केवल पैदल यात्री ही Pragati Maidan टनल तक जा सकेंगे। कृपया आवाजाही के विकल्प के रूप में रिंग रोड, भैरों रोड और मथुरा रोड का उपयोग करें।’ पुलिस अधिकारी ने स्पष्ट किया कि पैदल चलने वालों को भी टनल पार करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। पीडब्ल्यूडी के एक अधिकारी ने कहा कि यातायात के लिए सुरंग को बंद करने से क्षेत्र में वाहनों की आवाजाही प्रभावित नहीं होगी क्योंकि अन्य अंडरपास वाहनों के लिए खुले रहेंगे।

लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) के अधिकारी ने कहा, ‘ Pragati Maidan टनल के प्रवेश और निकास बिंदुओं पर मार्शल मौजूद रहेंगे ताकि आगंतुकों को निर्देशित किया जा सके। चूंकि रविवार को छुट्टी होती है, इसलिए ट्रैफिक कम होता है। अन्य अंडरपास खुले रहेंगे ताकि सुरंग के बंद होने से यातायात का प्रवाह बाधित न हो। यात्री अपने गंतव्य तक पहुंचने के लिए भैरों मार्ग, आईटीओ और मथुरा रोड का भी उपयोग कर सकते हैं।’

920 करोड़ रुपये की परियोजना को केंद्र सरकार ने फंड किया था और दिल्ली पीडब्ल्यूडी ने इसे बनाया है। टनल में हर 250 मीटर पर इन पेंटिंग का रंग बदल जाता है। बीते रविवार को Pragati Maidan टनल का उद्घाटन करते हुए पीएम मोदी ने सुझाव दिया था कि टनल को जब ट्रैफिक कम हो हफ्ते में एक बार 4-5 घंटे के लिए बंद किया जाए ताकि स्कूली बच्चों के लिए शैक्षणिक भ्रमण का आयोजन किया जा सके। जिससे उन्हें देश की कला, संस्कृति और त्योहार की शिक्षा दी जा सके।

यह भी पढ़ें – बुलावा तो दिया लेकिन Baraat में नहीं ले गया, दोस्त ने Dulhe को भेजा नोटिस

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है