PM मोदी ने सोमवार को यूरोपीय संघ की प्रेसिडेंट उर्सुला वोन डेर से फोन पर बात की। भारत और EU में कोविड-19 के कारण पैदा हालात पर दोनों शीर्ष नेताओं ने बात किया। साथ ही PM मोदी ने कोविड-19 की दूसरी लहर से संघर्ष में भारत सरकार द्वारा उठाए गए कदमों पर भी चर्चा की। PM मोदी ने कोविड-19 की आपदा झेल रहे भारत की मदद के लिए आग आए यूरोपीय संघ और उसके सदस्यों की सराहना की। दोनों नेताओं ने जुलाई में हूए समिट के बाद से भारत-यूरोपीय संघ रणनीतिक साझेदारी को लेकर कहा कि इससे नया विस्तार मिला है। हाल में ही भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में तेज वृद्धि और ऑक्सीजन की कमी के संकट के बीच यूरोपीय संघ ने भारत के साथ एकजुटता व्यक्त की थी तथा स्थिति से निपटने में भारत को सहयोग प्रदान करने की पेशकश की ।

यूरोपीय परिषद के अध्यक्ष चार्ल्स मिशेल ने कहा था कि भारत और यूरोपीय संघ 8 मई को दोनों पक्षों के बीच डिजिटल शिखर सम्मेलन में महामारी से लड़ाई में संभावित सहयोग के बारे में चर्चा करेंगे। उन्होंने इस बाबत ट्वीट भी किया था। इसमें उन्होंने लिखा कि यूरोपीय संघ कोविड-19 महामारी के बीच भारत के लोगों के साथ एकजुटता से खड़ा है। कोरोना के खिलाफ लड़ाई आसान नहीं है। हम 8 मई को नरेंद्र मोदी और प्रधानमंत्री एंटोनियो कोस्टा के बीच बैठक के दौरान यूरोपीय संघ-भारत के बीच सहयोग के बारे में चर्चा करेंगे । बता दें कि 16वीं भारत-यूरोपीय संघ शिखर बैठक डिजिटल माध्यम से 8 मई को होगी। भारत महामारी के दूसरी लहर के चपेट में है, यहां लगातार मामले बढ़ते जा रहे हैं। कई राज्यों में बिस्तरों से लेकर ऑक्सीजन तक की कमी की खबरें आ रही हैं। कई अस्पतालों में चिकित्सीय आक्सीजन की कमी की भी खबरें आ रही हैं ।

यह भी पढ़ें: कोरोना संक्रमण से ठीक होने वाले रोगी डॉक्टरों की राय लेकर करें प्लाज्मा दान।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है