अभिषेक बनर्जी ने कहा- मैं पीएम मोदी से अपील करता हूं कि वो  संसद में  बिल लेकर आएं, जिसके मुताबिक एक परिवार से सिर्फ एक ही शख्स को राजनीति में रहने की इज़ाज़त हो। उन्होंने कहा मुकुल रॉय, कैलाश विजयवर्गीय और सुभेंदु अधिकारी के परिवार से कई लोग राजनीति में आये हैं। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक बयानबाजियां शुरू हो गई हैं।  बीजेपी के टीएमसी पर परिवारवाद की राजनीति के आरोप पर टीएमसी सांसद अभिषेक  बनर्जी ने बीजेपी को चैलेंज करते हुए कहा कि जो परिवारवाद की राजनीति पर आरोप लगा रहे हैं उनके खुद के परिवार से लोग राजनीति में शामिल हैं। बनर्जी ने कहा कि मैं पीएम मोदी से अपील करता हूं कि वह संसद में ऐसा बिल लेकर आए जिसके मुताबिक एक परिवार से सिर्फ एक ही व्यक्ति  राजनीती में रहे जिससे लोगो में राजनीती को देखने का नजरिया बदले।  और लोगों को राजनीती देश सेवा लगे ना की धन कमाने का जरिया।

अमेरिका में फिर ‘ट्रंप VS बाइडेन’

उन्होंने कहा की यदि बीजेपी इस बात को माने की एक परिवार से एक ही शख्स राजनीती में रहेगा तो हमारे परिवार से सिर्फ ममता बनर्जी ही सियासत  का हिस्सा होंगी। इससे पहले बनर्जी ने कुलताली विधानसभा क्षेत्र में एक जनसभा को संबोधित करते हुए अपने ऊपर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों को लेकर जवाब दिया. उनका कहना हैं कि अगर उन पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप साबित होंगे तो वह सार्वजनिक रूप से फांसी लगा लेंगे।  आपको बता दे की बीजेपी की तरफ से अभिषेक बनर्जी को लुटेरा कहा गया था जिसके बाद उन्होंने आक्रोश में ये बयान दिया था। दूसरी ओर विक्टोरिया मेमोरियल में ममता बनर्जी के भाषण से पहले लगाए गए जय श्रीराम के नारे के मसले पर अभिषेक ने कहा कि यह नारे जानबूझकर लगाए गए हैं  ताकि ममता को भाषण देने से रोका जा सके।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं