जहरीली शराब से मौत पर सीएम योगी ने लिया एक्शन, कहा दोषियों की संपत्ति जब्त कर पीड़ितों को मिले मुआवजा

0
214

नई दिल्ली: जहरीली शराब पीने से यूपी के कई जिलों से मौत की खबरें सामने आई है, जिससे सूबे में हड़कंप मच गया है। आपको बता दें कि सबसे पहले मथुरा से जहरीली शराब पीने के कारण मौत का मामला सामने आया था। जिसके बाद कई जिलों में इस तरीके की घटनाएं सामने आई है। इनमें फिरेजाबाद, लखनऊ और अब प्रयागराज जिले से भी 6 लोगो की जहरीली शराब पीने से मौत हुई है।

आपको बता दें कि लखनऊ और फिरोजाबाद के आबकारी अधिकारियों को हटाने के साथ ही लखनऊ पुलिस कमिश्नर पर भी गाज गिरी। वहीं अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रयागराज की घटना के बाद सख्त तेवर अख्तियार कर लिए हैं।

प्रयागराज में हुई मौतों पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया है कि जहरीली शराब बेचने वालों पर प्रशासन गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई करे। यही नहीं जो भी इस मामले में दोषी पाए जाएं, उनकी संपत्ति को प्रशासन द्वारा जब्त किया जाए और इसके बाद संपत्ति नीलाम कर पीड़ितों को मुआवजा दिया जाए।

वहीं दूसरी तरफ इसको लेकर प्रदेश में राजनीति तेज हो गई है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट कर योगी सरकार को घेरा है। उन्होंने लिखा है कि यूपी में लखनऊ, फिरोजाबाद, हापुड़, मथुरा, प्रयागराज समेत कई जगहों पर जहरीली शराब से मौतें हुई हैं। आगरा, बागपत मेरठ में जहरीली शराब से मौतें हुई थीं। आखिर क्या कारण है कि कुछ दिखावटी कदमों की बजाय सरकार जहरीली शराब के माफियाओं पर कार्रवाई करने में नाकाम रही है? कौन जिम्मेदार है?

मामले में सरकारी देशी शराब ठेका की संचालिका संगीता देवी जयसवाल और उसका पति श्याम बाबू जयसवाल को गिरफ्तार कर लिया गया है। इससे पहले सेल्समैन जगजीत सिंह की बीती रात ही गिरफ्तारी हो चुकी है। 4 अन्य व्यक्तियों को भी पुलिस ने हिरासत में लिया है।

सभी पर नकली शराब बेचने का आरोप है। फूलपुर आबकारी निरीक्षक की तहरीर पर धारा 304, 308, 272, 273, व आबकारी अधिनियम 60, 63, 64ए के तहत दर्ज एफआईआर दर्ज हुई है।