किसानों का कृषि कानून को लेकर आंदोलन लगातार जारी है. मंगलवार को किसानों के आंदोलन को 27 दिन हो चुके है. अपन मांगों को लेकर अड़े किसान अब आक्रोशित होते नजर आ रहे है. इस बार किसानों के आक्रोश का सामना हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को करना पड़ा. आक्रोशित किसानों को काबू करने में पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी. पुलिस ने किसानों को पीछे किया. इसी धक्का-मुक्की में एक किसान की पगड़ी गिर गई. जिसके बाद सड़क पर काफी हंगामा हुआ. किसानों ने सीएम के काफिले में शामिल हरियाणा भाजपा के पूर्व प्रधान सुभाष बराला की गाड़ी को भी निशाना बनाया

किसान शांतिपूर्ण तरीके से काले झंडे दिखाकर विरोध व्यक्त करने की मांग कर रहे थे. प्रशासन ने चालाकी दिखाते हुए मुख्यमंत्री को दूसरे रास्ते से निकालने का प्रयास किया. इसके बाद मामला तूल पकड़ गया. करीब एक हजार से ज्यादा किसान मौके पर मौजूद थे. दरअसल मुख्यमंत्री मनोहर लाल को अंबाला में भाजपा की मेयर पद की प्रत्याशी डॉ. वंदना शर्मा के समर्थन में मंगलवार को एक जनसभा को संबोधित करना था. सीएम के अंबाला आगमन की सूचना मिलते ही सैकड़ों किसान सिटी के अग्रसेन चौक पर जमा हो गए. और प्रदर्शन करने लगे

किसानों को संभालने के लिए भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया था. किसान पहले ही एलान कर चुके हैं कि जहां-जहां भाजपा-जजपा के बड़े नेता आएंगे वहीं पर काले झंडे दिखाकर विरोध व्यक्त किया जाएगा

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है