एक बार फिर फेल हुआ पुलिस प्रशासन

रंजिश के चलते फरसे से काट कर की 51 वर्षीय ग्रामीण की हत्या

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार लाख कोशिश कर ले जुर्म की दुनिया को खत्म करने की लेकिन कहीं न कहीं ये कोशिश नाकामयाब हो ही जाती है जिस कारण जुर्म का जाल और फैलता जा रहा है। आज एक ऐसी ही खबर से आपको रूबरू करवायेंगे जिसने प्रदेश सरकार और प्रशासन के सामने एक सवालिया निशआन खड़ा कर दिया है। जी हां यूपी के बरेली में बाइक से जा रहे एक किसान की फरसे से काट कर बेरहमी से सरेआम हत्या कर दी गई। दबंगों ने किसान पर चलती बाइक पर हमला कर दिया और फिर उसे खिंचकर सड़क पर ले जाकर फरसे से काट डाला। हत्या की इस सनसनीखेज वारदात के बाद गांव में दहशत का माहौल है।

उत्तर प्रदेश: जिलाधिकारी कराएंगे घर जाने की व्यवस्था, यात्री की स्टेशन पर होगी जांच

बता दें क्योलड़िया के नवदिया गांव में जहाँ बीते दिन 51 साल के कुंवरसेन बाइक से एक शादी में जाने के लिए निकले तो कुछ ही दूरी पर पहले से घात लगाए बैठे गांव के ही भूपराम, उसके बेटे उमेश और पवन ने चलती बाइक से उन्हें खींच लिया। तीनो ने कुंवरसेन पर फरसे से कई वार किये जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। वही मृतक कुंवरसेन के भाई रामेश्वर का कहना है कि जिन लोगों ने उसके भाई की बेरहमी से हत्या की है उन्हीं हत्यारों ने 6 महीने पहले मेरा मुँह काला करके पूरे गांव में घुमाया था। उस वक्त पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। अगर पुलिस ने उस वक्त ही दबंगो पर कार्रवाई की होती तो उसके भाई की आज हत्या नहीं होती।

उत्तर प्रदेश में थमे एंबुलेंस के पहिए !

वहीं घटना की सूचना मिलते ही पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और हत्या का नामजद मुकदमा दर्ज कर हत्यारों की तलाश शुरू कर दी है। एसपी ग्रामीण डॉ. संसार सिंह का कहना है कि पुरानी रंजिश के कारण से कुंवरसेन की हत्या की गई है। जल्द ही हत्यारों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। बहरहाल पुलिस की हीलाहवाली की वजह से किसान कुंवरसेन की हत्या कर दी गई। पुलिस अगर वक्त रहते आरोपियो पर कार्रवाई कर देती तो शायद इस हत्या को रोका जा सकता था।

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है