Modi सरकार के दूसरे कार्यकाल में यह पहला मौका है, जब कैबिनेट विस्तार की चर्चा चल रही है। इसकी वजह अगले साल 5 राज्यों में होने वाले चुनावों को भी माना जा रहा है। इस बीच मंगलवार शाम को PM Narendra Modi की ओर से बुलाई गई मीटिंग रद्द हो गई है। इस मीटिंग में बीजेपी चीफ जेपी नड्डा समेत कई वरिष्ठ केंद्रीय मंत्रियों को बुलाया गया था।

आज शाम को 5 बजे होने वाली इस मीटिंग में कैबिनेट में फेरबदल और विस्तार पर बात होने की चर्चाएं थीं। हालांकि अब इस बैठक को ही रद्द कर दिया गया है। सूत्रों के हवाले से यह जानकारी मिली है। इस मीटिंग में मंत्रियों की अब तक की परफॉर्मेंस और भविष्य की योजनाओं को लेकर उनकी ओर से पेश किए गए खाके पर भी चर्चा होने वाली थी। माना जा रहा था कि इस मीटिंग में होम मिनिस्टर अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण समेत कई अन्य केंद्रीय मंत्री जैसे धर्मेंद्र प्रधान, प्रहलाद जोशी, पीयूष गोयल और नरेंद्र सिंह तोमर हिस्सा लेने वाले थे।

इससे पहले 20 जून को भी PM Modi ने मंत्रियों के साथ एक मीटिंग की थी। इस दौरान उन्होंने 2019 से लेकर 2021 तक सरकार के कामकाज को लेकर बात की थी और मंत्रियों का फीडबैक भी लिया था। केंद्रीय कैबिनेट में कुल 79 मंत्री हो सकते हैं, जिनमें से फिलहाल 53 ही हैं। इस तरह से 26 नए मंत्रियों के लिए पद खाली हैं।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है