Home India Delhi के Bawana इलाक़े के लोग अपने घरों में भी हैं असुरक्षित

Delhi के Bawana इलाक़े के लोग अपने घरों में भी हैं असुरक्षित

0

हर इंसान अपना आशियाना बनाता है और उसमे रहते हुए ख़ुद को महफूज़ समझता है लेकिन Delhi के Bawana में लोग ख़ुद को घर पर रहते हुए भी असुरक्षित मेहफ़ूज़ कर रहे हैं। Bawana की जेजे कॉलोनी में शुक्रवार(11 फरवरी) को एक पुरानी इमारत के ढहने के बाद चार लोगों की मौत हो गई। इस घटना के बाद यहां के लोगों में दहशत का माहौल है।

11 फरवरी की दोपहर Bawana की जेजे कॉलोनी में Rajiv Gandhi Awas Yojana के तहत बने पुराने भवन का एक हिस्सा ढह गया था। पुलिस के मुताबिक, तीन मंजिला इमारत जर्जर हालत में थी। इस घटना में 9 साल की बच्ची समेत चार लोगों की मौत हो गई। मौके से दो लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया और उनका अस्पताल में इलाज चल रहा है। वहीं रेस्क्यू ऑपरेशन में शामिल दमकल कर्मियों ने बातचीत में कहा कि इस इमारत के ढहने का कारण यह था कि इसके खंभे खोखले थे और इमारत का कोई सहारा नहीं था और इस तरह यह खड़ी नहीं रह सकती थी।

लोगों को डर है कि इलाके में एक दर्जन से अधिक इमारतें जर्जर हालत में हैं, जो कभी भी गिर सकती हैं। Bawana के एक निवासी ने कहा कि कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में Rajiv Gandhi Awas Yojana के तहत Bawana क्षेत्र में दर्जनों तीन मंजिला इमारतें बनी थीं, लेकिन उन फ्लैटों का आवंटन किसी को नहीं किया गया। इन फ्लैटों में कोई नहीं रहता है। इस क्षेत्र में अब चोरों और नशा करने वालों का बोलबाला है। हर दिन चोर और नशेड़ी इमारतों के खंभों से लोहे की सरिया और अन्य सामान निकाल ले जाते हैं। Rajiv Gandhi Awas Yojana के तहत कोई भी ऐसा फ्लैट नहीं बना है, जो सही स्थिति में हो। उन्होंने इस पर गंभीर चिंता जताते हुए कहा कि इन सभी को खोखला कर दिया गया है और देर-सबेर कभी भी गिर भी सकते हैं।

एक अन्य स्थानीय निवासी ने कहा कि चोरों और नशा करने वालों ने सभी इमारतों के खंभों और सीढ़ियों से लोहे की सरिया निकाल ली हैं। इसके अलावा, क्षेत्र के सभी सीवर के ढक्कन भी चोरी हो गए हैं। यहां से गुजरते समय इन सीवरों में गिरने से बचने के लिए अतिरिक्त सावधानी बरतनी होती है। कई मौकों पर यहां के निवासियों ने प्रशासन के साथ अपनी चिंता व्यक्त की है, लेकिन समस्याओं पर कोई ध्यान नहीं दिया गया है।

यह भी पढ़ें – 14 फरवरी से खुलेंगे Delhi- NCR के School, छात्रों को पढ़ाई के लिए नहीं किया जाएगा बाध्य

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है

Exit mobile version