डर के साए में रह रहे SUPERTECH ECO VILLAGE-1 में रहने वाले लोग, न जाने कब अर्श से फर्श पर आजाएं

0
177

हर इंसान पैसे जोड़कर अपने सपनों का घर ख़रीदता है लेकिन ये ही घर अगर उसकी आंखों के सामने गिरने लगे तो किसी के दिमाग पर क्या असर होगा ये सोच कर ही कोई भी डर सकता है। SUPERTECH ECO VILLAGE-1 में दो टावर के बेसमेंट धंसने और पिलर में दरार आने के कारण पहले से ही लोग डर के साए में जी रहे हैं। अब एक और टावर गिरने की कगार पर पहुंच गया है।

लोगों का कहना है कि 12 साल के इंतज़ार के बाद घर तो मिला था, लेकिन कब उनका आशियाना कब गिर जाएगा पता नहीं। सोसाइटी में रह रहे लोगों का कहना है कि इस सोसाइटी में घर खरीदकर मानो हमने कोई आफत मोल ले ली हो। यहां हमेशा कुछ न कुछ गड़बड़ होती रहती है जिससे हम लोग परेशान रहते हैं।

SUPERTECH ECO VILLAGE-1 में कई महीनों से एसटीपी (सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट) बन रहा है। इस वजह से D5 और F7 बिल्डिंग के बेसमेंट में पहले से ही दरार पड़ पड़ चुकी है। इस पर ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने 30 दिन के भीतर ऑडिट कराने का आदेश दिया है, लेकिन उसी एसटीपी के निर्माण कार्य के कारण C6 टावर का भविष्य भी अधर में लटका हुआ है। सी6 टावर में रहने वाले राकेश तिवारी बताते हैं कि हम 6 महीने पहले ही यहां शिफ्ट हुए थे। इस टावर के ठीक नीचे बहुत बड़ा गड्ढा है, जब भी बारिश होती है तो यहां से मिट्टी गिरती रहती है। वो दिन भी दूर नहीं जब खोखला होकर ये इमारत भी गिर जाएगी।

C6 टावर के बेसमेंट में जमीन खिसकने की बात पर SUPERTECH ECO VILLAGE-1 के प्रोजेक्ट हेड विनोद कुमार मिश्र बताते हैं कि इस बिल्डिंग के मामले में घबराने की जरूरत नहीं, जो मामला है वो एसटीपी का है जिसे जल्द बनाकर पूरा बेसमेंट इमारत के बराबर कर दिया जाएगा। वहीं, ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के एसीईओ अमरदीप दुली बताते हैं कि मामला हमारे संज्ञान में है, हमने बिल्डर को ऑडिट कराने का आदेश दिया है। तीन अगस्त तक आईआईटी से ऑडिट कराकर प्राधिकरण के ऑफिस में जमा कराया जाएगा, नहीं तो बिल्डर के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें – CM Yogi के Population वाले बयान पर Owaisi बोले- मुसलमान ज़्यादा यूज़ करते हैं गर्भ निरोधक

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है