Parliament Winter Session : Sansad परिसर में उठी तीनों कृषि कानूनों को तत्काल निरस्त करने की मांग

0
251

Parliament Session (संसद सत्र) होते ही सदन में कांग्रेस और अन्य पार्टियों के नेताओं ने नारेबाज़ी शुरू कर दी। उधर कार्यवाही शुरू होने से पहले Sansad परिसर में गांधी प्रतिमा के पास कांग्रेस सांसदों ने सोनिया गांधी और राहुल गांधी के नेतृत्व में विरोध प्रदर्शन किया। केंद्र सरकार के खिलाफ नारे भी लगाए।

कांग्रेस ने तीनों कृषि कानूनों को तत्काल निरस्त करने और MSP की कानूनी गारंटी देने की मांग की। बीजेपी का कहना है कि किसानों के मुद्दे पर विपक्ष राजनीति न करे, सरकार हमेशा से किसानों के साथ रही है। वहीं बीजेपी Sansad हरनाथ यादव ने कहा, राहुल गांधी और उनकी पार्टी सिर्फ राजनीति कर रही है।

कांग्रेस समेत कई विपक्षी दलों के नेताओं ने सोमवार(29 नवंबर) को संसद के शीतकालीन सत्र के आरंभ होने से पहले बैठक की जिसमें तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने संबंधी विधेयक सहित कई मुद्दों को लेकर रणनीति पर चर्चा की गई। सूत्रों के मुताबिक, राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के Sansad भवन स्थित कक्ष में हुई इस बैठक में इन विपक्षी दलों ने न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की कानूनी गारंटी दिए जाने की जरूरत पर जोर दिया।

इस बैठक में खड़गे के अलावा लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की सुप्रिया सुले, नेशनल कांफ्रेंस के हसनैन मसूदी, रिवोल्यूशनरी सोशलिस्ट पार्टी (आरएसपी) के एनके प्रेमचंद्रन और कुछ अन्य नेता शामिल हुए। इस बीच, राज्यसभा में कांग्रेस के मुख्य सचेतक जयराम रमेश ने दावा किया कि सरकार तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने संबंधी विधेयक को चर्चा के बिना पारित करना चाहती है।

यह भी पढ़ें – Pfizer Vaccine के 2 डोज़ के 90 दिन बाद ही बढ़ने लगता है संक्रमण का ख़तरा

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है