विंग कमांडर अभिनंदन की गिरफ्तारी से डर गया था पाकिस्तान, देखें पूरा वीडियो

0
947
abhinandan

नई दिल्ली: पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब देने वाले विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान एक बार फिर सुर्खियों में है। ये वहीं भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान है जिन्होंने अपने मिग-21 से आर-73 मिसाइल दागते हुए पाकिस्तान का एफ-16 लड़ाकू विमान गिरा दिया था। इस दौरान उनका मिग-21 विमान क्रैश हो गया और वह पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में जा गिरे थे। वहां पर पाकिस्तानी सुरक्षाबलों ने उन्हें अपनी हिरासत में ले लिया था।पूछताछ के दौरान पाक आर्मी ने उन्हें चाय पीने को दी थी और इसका विडियो शेयर कर दिखाने की कोशिश की थी कि अभिनंदन की किस तरह खातिरदारी की जा रही है। भारत के सख्त रुख ने पाकिस्तान को अभिनंदन वर्तमान को सही सलामत भारत भेजने पर मजबूर कर दिया था। एक मार्च को वह अटारी-वाघा बॉर्डर से भारत वापस आए थे।

बहरहाल मार्च 2019 में विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान की रिहाई लेकर भारत के सख्त रुख पर पाकिस्तान की सियासी पार्टी पीएमएल-एन के सांसद ने बड़ा खुलासा किया है। इस खुलासे से पाकिस्तान की सियासत में नया तूफान आ सकता है। इस सांसद ने बताया कि अभिनंदन की रिहाई न होने पर भारत, पाकिस्तान पर हमले के लिए तैयार बैठा था। पाकिस्तान से असेंबली में भारत और मोदी सरकार के खौफ का ताजा सबूत सामने आया है। भारत के फायटर प्लेन पायलट अभिनंदन को लेकर पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री ख्वाजा मुहम्मद आसिफ ने कहा कि अभिनंदन को पाकिस्तान ने भारत के खौफ में, भारत को खुश करने के लिए छोड़ा था। पाकिस्तान असेंबली के पूर्व स्पीकर सरदार अयाज सादिक ने भी कहा कि उस वक्त पाकिस्तान के आर्मी चीफ बाजवा के पैर कांप रहे थे और चेहरे पर पसीना था कि कहीं भारत अटैक न कर दे।

गौरतलब है कि 14 फरवरी 2019 को पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों की बस पर घात लगाकर हमला किया गया था। इस घटना में 40 अर्धसैनिक बलों के जवान शहीद हुए थे। इसके बाद 26 फरवरी को भारतीय वायुसेना के जवानों ने इसके जवाब में पाकिस्तान के बालाकोट में आधी रात को हमला कर जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी प्रशिक्षण शिविर को ध्वस्त कर दिया था। इससे बौखलाए पाकिस्तान ने जम्मू कश्मीर में भारत पर जवाबी कार्रवाई की कोशिश की। लेकिन उसके सभी मंसूबों को भारतीय जवानों ने नाकाम कर दिया गया। पाकिस्तान ने एयर टू एयर मिसाइल दागने के लिए अपने सबसे अडवांस विमान एफ-16 का इस्तेमाल किया। वहीं मिराज-IIIएस को ग्राउंड मिसाइल हमले के लिए इस्तेमाल किया।