सीएम योगी के भाग्य नगर के बयान पर ओवैसी का पलटवार

0
700

नई दिल्ली: हैदराबाद नगर निकाय चुनाव में बीजेपी के मैराथन प्रचार अभियान करे दौरान योगी आदित्यनाथ द्वारा हैदराबाद का नाम बदलकर भाग्यनगर किए जाने के ऐलान पर स्थानीय सांसद और एआईएमआईएम के नेता असदुद्दीन ओवैसी ने जवाब देते हुए बीजेपी पर हमला बोला है। ओवैसी ने कहा है कि बीजेपी के लोग यहां का नाम बदलना चाहते हैं, यहां रहने वालों को पाकिस्तान, अफगानिस्तानी रोहिंग्या बतातें है। 1 दिसंबर को मजलिस को वोट देकर इनके मुंह पर यहां की जनता तमाचा रसीद करेगी।

AIMIM नेता ने कहा, “बीजेपी के जितने लीडर है, चीफ मिनिस्टर है वो ये कह रहे हैं कि हैदराबाद का नाम बदल दिया जाएगा। मैं यहां कि आवाम से ये सवाल कर रहा हूं, क्या आप चाहते हैं कि हैदराबाद का नाम तब्दील कर दिया जाए? क्या आप हैदराबादा का नाम भाग्यनगर रखना चाहते हैं। अगर आप हैदराबाद के नाम को हैदराबाद रखना चाहते हैं तो मेरी आपसे गुजारिश है कि बीजेपी को शिकस्त दीजिए, मजलिस को कामयाब कीजिए।”

ओवैसी ने अपने भाषण में आगे कहा, “। बीजेपी कह रही है पुराने शहर के इलाके में पाकिस्तानी, अफगानिस्तानी, रोहिंग्या रहते है यहां सर्जिकल स्ट्राइक करेंगे। मैं बीजेपी को बताना चाहता हूं कि ये धमकियां किसी और को देना,ये हैदराबाद की सरजमीं है, ये बिहार की तरह जो तुमने कामयाबी हासिल की कांग्रेस के यहां पर तुम वो चाल नहीं चल सकते, यहां पर तुम्हारी हर चाल को हम समझते हैं। तुमने जो पुराने शहर की तौहीन की है यहां कि आवाम 1 दिसंबर को मजलिस को एक एक वोट डालकर तुम्हारे मुंह पर एक तमाचा रसीद करेगी।।”

रोड शो के दौरान आदित्यनाथ ने हैदराबाद का नाम बदलकर फिर से भाग्यनगर करने की बात उठाई। हैदराबाद के मलकाजगिरी मंडल में रोड शो के दौरान योगी ने कहा कि लोग मुझसे पूछते हैं कि क्या हैदराबाद का नाम बदलकर फिर से भाग्यनगर किया जा सकता है तो मैं कहता हूं कि क्यों नहीं।

 इस मौके पर योगी ने ओवैसी की पार्टी आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लमीन (AIMIM) के बिहार के विधायक अख्तारुल इमान द्वारा शपथ ग्रहण के दौरान हिंदुस्तान शब्द का प्रयोग न करने की कड़ी आलोचना की। उन्होंने कहा कि ये लोग हिंदुस्तान में रहते हैं, लेकिन जब हिंदुस्तान के नाम पर शपथ लेने की बात आती है तो वे पीछे हट जाते हैं। एआइएमआइएम का यही असली चेहरा है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देशन में गृहमंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 का सफाया कर हैदराबाद व तेलंगाना के लोगों को भी वहां जमीन खरीदने और वहां का नागरिक बनने का मौका दिया है।