अब 18 की उम्र में नहीं होगी लड़कियों की Shaadi, संसद में पेश होगा बिल

0
398

एक वक़्त था जब लड़कियों की Shaadi बेहद कम उम्र में कर दी जाती थी लेकिन अब ऐसा नहीं किया जा सकेगा। कैबिनेट की बैठक में लड़कियों की Shaadi की न्यूनतम उम्र बढ़ाने से जुड़े एक बिल को मंज़ूरी दी गई है। पिछले साल PM Narendra Modi ने लाल क़िले से दिए गए अपने भाषण में सरकार की मंशा ज़ाहिर की थी। लड़कियों की Shaadi की न्यूनतम उम्र सीमा जल्द ही 18 से बढ़ाकर 21 साल किया जा सकता है। इसके लिए सरकार ने तैयारी शुरू कर दी है। इससे जुड़े बिल को संसद के इसी सत्र में पेश किए जाने की संभावना है।

Shaadi की उम्र सीमा बढ़ाने के लिए बाल विवाह क़ानून में संशोधन किया जाएगा। इस क़ानून में फ़िलहाल लड़कियों के Shaadi की उम्र सीमा 18 तय की हुई है। समझा जा रहा है कि क़ानून में बदलाव के लिए संशोधन बिल को बुधवार को हुई कैबिनेट की बैठक में मंज़ूरी दे दी गई है। PM Narendra Modi ने कैबिनेट बैठक की अध्यक्षता की। इस मुद्दे पर पिछले साल गठित किए गए टास्क फोर्स ने अपनी रिपोर्ट में Shaadi की न्यूनतम उम्र सीमा 18 से बढ़ाकर 21 साल किए जाने की सिफ़ारिश की थी।

पूर्व सांसद जया जेटली की अध्यक्षता में टास्क फोर्स का गठन किया गया था। टास्क फोर्स ने अपनी रिपोर्ट में मां बनने की उम्र सीमा और महिलाओं से जुड़े अन्य मुद्दों पर भी अपनी सिफ़ारिश दी थी। PM Modi ने पिछले साल स्वतंत्रता दिवस को लाल क़िले से दिए गए अपने भाषण में इस बात का ऐलान किया था कि वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए Shaadi की उम्र सीमा बढ़ाए जाने की संभावना पर विचार होना चाहिए।

यह भी पढ़ें – बदले बदले नज़र आए Prashant Kishor के सुर, कहा- PM बन सकते हैं Rahul Gandhi

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है