अब Sadhu संत करेंगे किसानों की तरह आंदोलन, जानें वजह

0
135

किसानों ने जिस तरह सरकार के आगे अपनी मांगे रखी उससे देश के लोगों पर बड़ा प्रभाव पड़ा है। कृषि कानूनों की वापसी से ट्रेड यूनियनों से लेकर Sadhu-संतों तक को अपनी मांगें मनवाने का मौका मिल गया है। कृषि कानूनों की वापसी के फैसले से प्रेरित होकर अब Sadhu-संतों ने भी आंदोलन का ऐलान किया है।

देश के अलग-अलग हिस्सों से आए Sadhu-संतों ने Delhi के कालकाजी मंदिर में मठ-मंदिर मुक्ति आंदोलन की शुरुआत की। Sadhu-संतों का यह आंदोलन मंदिरों और मठों को सरकारी नियंत्रण से मुक्त करवाने के लिए कानून की मांग को लेकर है। साधुओं ने स्पष्ट रूप से कहा कि अगर किसान सरकार को झुका सकते हैं तो हम क्यों नहीं। जरूरत पड़ी तो हम Delhi में डेरा डालेंगे।

महन्त सुरेंद्र नाथ अवधूत महाराज ने सरकार को चेताते हुए कहा कि सरकार को मंदिरों का प्रबंधन तुरंत Sadhu-संतों के हाथ में सौंप देनी चाहिए, अगर ऐसा नहीं होता है तो पूरे देश के Sadhu-संत आंदोलन करेंगे।

अखिल भारतीय संत समिति के तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम में मंच से Sadhu-संतों ने कहा कि जब किसान Delhi के रास्ते को रोककर बैठ सकते हैं और सरकार से अपनी मांगें मनवा सकते हैं तो हम Sadhu-संत ऐसा क्यों नहीं कर सकते। ख़बरों के मुताबिक, ज्यादातर Sadhu-संतों ने कहा कि अगर सरकार हमारी मांगें नहीं मानती हैं तो हम भी Delhi में डेरा डालेंगे। वहीं, अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत रवींद्र पुरी महाराज ने Supreme court के एक फैसले का जिक्र कर मठ-मंदिरों पर अवैध रूप से कब्जे को लेकर अपनी नाराजगी जताई। ख़बरों के मुताबिक, महंत रवींद्र पुरी ने कहा कि जनवरी 2014 में Supreme court ने तमिलनाडु में नटराज मंदिर को सरकारी नियंत्रण से मुक्त करने वाले आदेश में कहा था कि मंदिरों का संचालन और व्यवस्था भक्तों का काम है। Supreme court मंदिर के पुजारियों और बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी की अपील पर यह फैसला सुनाया था। जगन्नाथ मंदिर के अधिकार वाले केस में कोर्ट ने स्पष्ट किया था कि मंदिरों पर भक्तों द्वारा चढ़ाए गए धन को सरकारें मनमाने तरीके से खर्च करती हैं। जबकि एक भी चर्च या मस्जिद पर राज्य का नियंत्रण नहीं है।

यह भी पढ़ें – देश में सबसे बड़ा होगा Jewar Airport, इस दिन शिलान्यास करेंगे PM Modi 

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है