अब Doctors की ड्यूटी लगेगी स्कूलों में, कराएंगे UP Board Exam!

0
244

UP Board Exam आज से शुरू हो गए हैं। सरकारी अस्पतालों के फार्मासिस्ट अस्पताल में सेवाएं देने के साथ ही बोर्ड की परीक्षाएं कराएंगे। UP Board की 10वीं और 12वीं की परीक्षा में 16 Doctors को स्टेटिक मजिस्ट्रेट बनाया गया था। हालांकि Doctors के विरोध के बाद शासन ने आदेश में आंशिक संसोधन करते हुए अब Doctors की जगह पर फार्मासिस्टों को स्टेटिक मजिस्ट्रेट बना दिया है। इसमें आयुर्वेद के 10 और होम्योपैथी के छह फार्मासिस्ट शामिल हैं।

पशु अस्पतालों के चार फार्मासिस्ट भी ड्यूटी Exam कराएंगे। राज्य सरकार सूबे में आयुष विधा को बढ़ावा दे रही है। ज़्यादातर ग्रामीण क्षेत्रों में आयुष के डॉक्टर या फार्मासिस्ट ही मरीज़ों का दर्द मिटाने में अहम भूमिका निभा रहे हैं। corona महामारी के दौरान आयुष विधा के Doctors और फार्मासिस्ट की अहम भूमिका देखने को मिली।

लोगों ने घर पर ही आयुर्वेद, होम्योपैथी की दवाएं और योगाभ्यास के ज़रिए बीमारी पर काबू पाया। हाल ही में विधानसभा चुनाव में भी आयुर्वेद व होम्योपैथी के Doctors व फार्मासिस्ट की ड्यूटी लगी थी। Board Exams में ड्यूटी के विरोध में प्रांतीय आयुर्वेदिक एवं यूनानी चिकित्सा सेवा संघ जिलाधिकारी समेत अन्य जिम्मेदारों को पत्र भेजा। पत्र में बताया कि शासन द्वारा Doctors की ड्यूटी माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की Exam में लगा दी गई है। इससे आयुष अस्पतालों को बंद करना पड़ेगा। साथ ही मरीजों को दवा वितरण, इलाज की असुविधा होगी।

23 मार्च की शाम शासन ने इस मामले में संसोधित आदेश जारी कर दिया। शासन ने Board Exam की ड्यूटी से Doctors को बाहर कर दिया। उनकी जगह पर संबंधित विभागों से फार्मासिस्टों की ड्यूटी लगा दी। अब इसको लेकर फार्मासिस्ट संवंर्ग में नाराजगी है। उनमें से कोई मुखर होकर कुछ भी कहने से हिचक रहा है।

यह भी पढ़ें – देवर को बारात ले जाता देख Bhabi बोली, ये तो मेरा पति है

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है