Delhi के Saree विरोधी Aquila Restaurant को भारतीय कानून का ज्ञान करवाएगा राष्ट्रीय महिला आयोग. जारी की नोटिस

0
568
Delhi
Saree

जातिवाद, क्षेत्रवाद , मतवाद , सम्प्रदायवाद को आप ने कभी न कभी और कही न कहीं किसी न किसी रूप में सुनी और सामने कई बार प्रत्यक्ष देखी भी होंगी। लेकिन Delhi के Aquila Restaurant ने एक नई चर्चा को जन्म दे दिया है जिसको वस्त्रवाद भी कहा जा सकता है.. हर नियम और हर कानून से ऊपर जा कर और कहा जाय तो ताख पर रख कर भारतीय परिधान साडी ( Saree ) पहने एक महिला को अंदर जाने से रोक दिया गया.

ये बात कहीं और की नहीं बल्कि भारत की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की है जहाँ खुले तौर पर भारतीय संस्कारो और परिधानों का अपमान किया गया है. फिलहाल मीडिया से ज्यादा इस मामले ने सोशल मीडिया पर तूल पकड़ा है और वो कृत्य करने वाले सभी बैकफुट पर आ चुके हैं. अब भारतीय परिधान का अपमान करने वाले Aquila Restaurant को कानूनी पाठ पढ़ाने के लिए राष्ट्रीय महिला आयोग ने कमर कसी है.

यह भी पढ़ें – किसी चुटकुले से कम नहीं है Pakistan के गृहमंत्री का New…

यद्द्पि पूरे देश के विभिन्न मामलों पर मुखरता से बोलने वाली दिल्ली राज्य महिला आयोग की प्रमुख स्वाति मालीवाल की इस मामले में चुप्पी किसी को भी हैरान कर देने वाली है. ज्ञात हो कि अब इस मामले पर राष्ट्रीय महिला आयोग (  NCW  ) ने संज्ञान ले लिया है और दिल्ली के कमिश्नर को पत्र लिखकर मामले की जाँच करते हुए कार्रवाई की बात कही है.इसके साथ ही राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) ने रेस्टोरेंट के मार्केटिंग और पीआर निदेशक को आयोग में पेश होने को भी कहा है.

BJP महिला मोर्चा की अध्यक्ष ने इस मामले पर राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा को पत्र लिखते हुए मामले में संज्ञान लेने और कार्रवाई करने को कहा था. जहां इसके जबाब में महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने भाजपा महिला मोर्चा की अध्यक्ष को भरोसा दिलाया कि मामले में एक्शन लिया जा रहा है.दरअसल, मामला एक महिला के साड़ी पहनने से जुड़ा हुआ है.

प्रकरण के परिचय स्वरूप ये जानना जरूरी है की राजधानी दिल्ली के एक रेस्टोरेंट ने इस महिला को अपने यहां इसलिए एंट्री देने से मना कर दिया क्योंकि महिला ने साड़ी पहन रखी थी. इधर, रेस्टोरेंट के मना करने के बाद महिला ने मौके पर इस पूरे मामले का वीडियो बनाना शुरू कर दिया जिसमें रेस्टोरेंट की तरफ से महिला के साड़ी पहने होने पर एंट्री देने से साफ मना किया जा रहा है.बतादें कि वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है.

भारतीय संस्कारों का सम्मान करने वाला एक बड़ा वर्ग इस वीडियो को देखकर जहां रेस्टोरेंट को खरी-खोटी सुनाते हुए भारत की संस्कृति पर हमला बता रहा हैं तो वहीं साथ ही कड़ी कार्रवाई की मांग कर रहा है..फ़िलहाल यहाँ एक और पीड़ादायक विषय ये है कि इतनी फजीहत के बाद अब तक आरोपी रेस्टोरेंट की तरफ से कोई माफीनामा नहीं आया है जो उसके मालिक के अपनी जिद पर अड़े रहने की तरफ संकेत कर रहा है.