बढ़ती महंगाई कब कम होगी ये कहना मुश्किल है। आलम ये है कि उपभोक्ताओं पर महंगाई की मार कम होने के बजाए बढ़ती जा रही है। पेट्रोल और डीजल तो रुला ही रहा है, अब सरसों Oil की कीमतें भी 200 रुपये के पार पहुंच गई हैं।

सरसों का Oil हर सब्जी में इस्तेमाल किया जाता है। ऐसे में लोगों के रसोई घर का बजट बिगड़ गया है। कुमाऊं में सरसों तेल की प्रति लीटर कीमत 200 रुपये के पार पहली बार पहुंची है। बता दें कि नामी ब्रांडों का Oil 190 से 210 रुपये प्रति लीटर तक बिक रहा है। सितंबर महीने में दूसरी बार सरसों Oil की कीमतों में इजाफा हुआ है। बीते करीब 7 दिनों में 10 से 15 रुपये तक कीमतें बढ़ी हैं। इस महीने की बात करें तो करीब 30 रुपये तक सरसों Oil महंगा हुआ है। व्यापारियों के मुताबिक यह तेजी फिलहाल अभी नहीं थमेगी।

नवरात्र के साथ त्योहारी सीजन शुरू होने वाला है और दिवाली तक कीमतों में और इजाफा होने के आसार हैं। इस साल 75 रुपये तक महंगा हुआ सरसों Oil सरसों के तेल में यह तेजी इस साल की शुरुआत से ही बनी हुई है। जनवरी तक 125 से 145 रुपये तक बिकने वाले तेल की कीमतें आसमान छू चुकी हैं। इस साल 75 रुपये तक सरसों Oil महंगा हुआ है। हालांकि, अगस्त में 10 रुपये तक गिरावट हुई थी।

किराना व्यापार मंडल के मंडल महामंत्री बताते हैं कि सरकार ने खाद्य तेलों में पाम Oil की मिलावट पर पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया है। दूसरा अभी सरसों की फसल आने में समय है। ये दोनों कारण सरसों Oil महंगा होने की प्रमुख वजह हैं।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है