भारत का मुसलमान दोबारा Masjid खोने को तैयार नहीं, क़यामत तक रहेगी ज्ञानवापी : Asaduddin Owaisi

0
162

मस्जिद(Masjid) और मंदिर से जुड़ी कोई बात हो और सियासत न हो ऐसा तो हो ही नहीं सकता। कुछ वक़्त से Gyanvapi Masjid चर्चा में बनी हुई है। वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद(Gyanvapi Masjid) में सर्वे और हिंदू पक्षकारों के दावे पर AIMIM के प्रमुख Asaduddin Owaisi ने विरोध दर्ज करवाया है।

Asaduddin Owaisi ने कहा, जब मैं 20-21 साल का था तब मुझसे Babri Masjid को छीन लिया गया। अब हम दोबारा 19-20 साल के युवाओं के सामने कोई Masjid नहीं खोएंगे। उन्होंने कहा कि ज्ञानवापी Masjid थी और क़यामत तक रहेगी।

तीसरे दिन के सर्वे के बाद हिंदू पक्षकारों ने दावा किया है कि Masjid के वज़ूखाने से शिवलिंग मिला है। दावे के मुताबिक यह शिवलिंग 12 फीट 8 इंच ऊंचा है। हिंदू पक्षकार के वकील ने एक अदालत में अर्जी देकर मांग की कि इस इलाके की सुरक्षा की जाए। कोर्ट ने इलाके को सील करने का आदेश दिया है। यहां किसी के भी आने जाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

Asaduddin Owaisi ने जनसभा में नारे लगवाते हुए कहा, इनको पैगाम मिलना चाहिए कि Masjid को हम नहीं खोएंगे। तुम्हारे हथकंडों को हम जान चुके हैं। अब हम दोबारा इनको नहीं डसने देंगे। Masjid है और इंशा अल्लाह क़यामत तक रहेगी। हमारा काम यह है कि हम अपनी मस्जिदों को आबाद रखेंगे। हमारी ज़िम्मेदारी है कि रमज़ान हो गया तो Masjid की दरो-दीवारें तरसती हैं कि कहां गए वे लोग जो रमज़ान में रोज़ आते थे। अगर हम अपने गांव की मस्जिदों को आबाद रखेंगे तो  इन्हें पैगाम मिल जाएगा कि दोबारा भारत का मुसलमान Masjid खोने को तैयार नहीं है।

यह भी पढ़ें – Gyanvapi Masjid में वज़ू करने पर लगी रोक: Varanasi Court

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है