मुझे सचिन पायलट ने दिया था पैसों का ऑफर- मलिंगा

राजस्थान के कांग्रेस विधायक गिर्राज सिंह मलिंगा ने प्रेस कॉन्फेंस किया इस दौरान उन्होने सचिन पायलट पर गंभीर आरोप लगाए… उन्होंने कहा कांग्रेस छोड़ने के लिए पायलट ने 35 करोड़ का ऑफर दिया था…लेकिन ऑफर को ठुकरा दिया और इसकी जानकारी मैंने मुख्यमंत्री को दी थी। गिर्राज ने आगे कहा कि यह बात मैं भगवान की मूर्ति पर हाथ रखकर भी कह सकता हूं।

थम नही रही हैं राजस्थान के सियासतदारों की मुश्किलें

वहीं इस पूरे मामले में सचिन पायलट ने जवाब दिया कि इन आरोपों से दुख हुआ है, पर अचंभा नहीं है। ऐसे निराधार आरोप लगाने वाले विधायकों के खिलाफ सख्त कानूनी एक्शन लूंगा। पायलट ने कहा कि यह आरोप मेरी छवि खराब करने के लिए लगाए जा रहे हैं। लेकिन, इनसे मैं डिगूंगा नहीं। मैं अपने विश्वास पर कायम रहूंगा।

Malinga

घर मिलने पहुंचा था, तब पायलट ने ऑफर दिया- गिर्राज

इससे पहले गिर्राज ने होटल फेयरमॉन्ट के बाहर कहा, ‘दिसंबर में मैं पायलट से उनके घर पर मिला था। वहीं, पर उन्होंने ऑफर दिया था। राज्यसभा चुनाव के व़क्त भी उन्होंने यह बात कही थी।’

बता दें कि गिर्राज मलिंगा लगातार तीन बार से विधायक हैं। पहली बार बसपा से विधायक बने थे। इसके बाद वह गहलोत सरकार में बसपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो गए थे।

बीजेपी ने संपर्क नहीं किया, पायलट ने ही ऑफर दिया

यह पूछे जाने पर कि क्या उनके पास इसका कोई सबूत है,इस पर मलिंगा ने कहा, ‘मैंने कोई रिकॉर्डिंग नहीं की, न ही मुझे रिकॉर्डिंग करनी आती है। बीजेपी ने मुझसे कभी संपर्क नहीं किया। सचिन पायलट ने मुझे पैसे ऑफर किए थे। मैंने साफ कह दिया था कि मुझे बीजेपी में नहीं जाना। मुझे बीजेपी में जाने के लिए कहा गया था। 35 करोड़ रुपए देने की बात भी कही थी। मैंने बीजेपी में जाने के लिए साफ मना कर दिया था।’

‘मैं शिव मंदिर में मूर्ति को हाथ लगाकर ये बात कह सकता हूं। मेरे लिए इससे बड़ी बात दूसरी नहीं हो सकती। अगर जांच एजेंसियां आती हैं तो मैं उन्हें भी बयान देने के लिए तैयार हूं। मुझसे अलग बुलाकर ये बात कही गई थी। दिसंबर के बाद राज्यसभा चुनाव में भी बात हुई थी।’गहलोत ने भी कहा था- पायलट 6 माह से भाजपा में जाने की तैयारी कर रहे थे, 11 जून को पार्टी तोड़ने वाले थे

राजस्थान के सियासी खेल में ऑडियो टेप का ‘योगदान’

इससे पहले सीएम अशोक गहलोत ने शुक्रवार को सचिन पायलट पर फिर सीधा हमला बोला था। पायलट को अति महत्वाकांक्षी बताते हुए गहलोत ने कहा कि वे छह महीने से बीजेपी में जाने की तैयारी कर रहे थे। लेकिन उनके साथियों ने मना कर दिया। फिर उन्होंने साथियों से कहा कि वे बीजेपी में नहीं जाएंगे और तीसरा मोर्चा बनाएंगे। इसके बाद बीजेपी के समर्थन से अपनी सरकार चलाएंगे। उन्होंने कहा था कि 11 जून को पायलट के पिता राजेश पायलट की पुण्यतिथि थी। उसी दिन इनकी प्लानिंग थी कि दौसा से रात 2 बजे विधायकों को लेकर ये गुरुग्राम रवाना हो जाएं।

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है