Lucknow Building Collapse: देखते ही देखते 5 मंज़िला इमारत हुई ज़मीदोज़

0
157

बदलते वक़्त के साथ लोग विदेश में रहने वालों की तरह बड़ी बड़ी इमारतों में रहना चाहते हैं। ये इमारतें कितनी महफूज़ हैं ये बात हर इंसान जान भी कैसे सकता है। मोटी रकम देकर लोग घर में शिफ्ट हो जाते हैं इस बात से अनजान कि न जाने कब ये इमारत उनकी ज़िंदगी बर्बाद कर देगी। Lucknow में शाम 6:35 बजे अचानक तेज़ धमाका हुआ। लगा कि मानो बादल फट गया। चारों ओर धूल का गुबार फैला था। कुछ भी साफ नहीं दिख रहा था।

महज 35 सेकेंड में ही Lucknow की पूरी इमारत ज़मीदोज़ हो गई। पहली बार सामने से ऐसा नज़ारा देखा। अभी तक ऐसा फिल्मों में ही दिखता रहा है। धमाके जैसी तेज़ आवाज़ अभी भी वहां के लोगों के कानों में गूंज रही है। इस मंज़र को शायद वो कभी नहीं भूल पायेंगे।

वजीरहसन रोड निवासी नावेद अहमद अलाया अपार्टमेंट के बगल वाली गली में रहते हैं। वह इंवेंट मैनेजमेंट का काम करते हैं। उन्होंने बताया कि मंगलवार शाम को वह घर के बाहर टहल रहे थे। करीब 6:35 बजे तेज धमाका हुआ। आवाज इतनी तेज की कि कान शून्य हो गए। उन्होंने दावा किया कि वह सबसे पहले घटना स्थल पर पहुंचे थे क्योंकि वह करीब में ही थे और सब उनकी आंखों के सामने हुआ। धूल का गुबार कम होने पर वह भागकर अपार्टमेंट के पास गये तब तक पूरा अपार्टमेंट जमीदोज हो चुका था। चीख पुकार सुन वह सहम गए। देखते ही देखते आसपास के लोग बड़ी संख्या में जुट गए। कुछ ही देर में पुलिस और दमकल और एसडीआरएफ की टीम ने मौके पर पहुंचकर रेस्क्यू अभियान शुरू किया।

कमिश्नर रोशन जैकब और डीएम सूर्यपाल गंगवार ने अलाया अपार्टमेंट के पड़ोस में स्थित एक सैन्य अधिकारी को अपना मकान खाली करने को कहा। उनसे कहा गया कि आपका मकान छतिग्रस्त बिल्डिंग के बगल में है। राहत कार्य चलते रहने तक यहां रहना खतरे से खाली नहीं हैं। उनसे कहा गया कि पूरे परिवार को सरकारी गेस्ट हाउस में रुकवा दिया जायेगा। देर रात को यह परिवार एक रिश्तेदार के यहां चला गया था।

यह भी पढ़ें – केजरीवाल सरकार का फरमान, Delhi में 26 जनवरी से 31 मार्च तक होंगे 6 Dry Day

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है