नहीं हटाए गए मस्जिदों से Loudspeaker तो हम भी तेज़ आवाज़ में बजाएंगे हनुमान चालीसा :Raj Thackeray 

0
352

2 अप्रैल से नवरात्रि तो 3 अप्रैल से रमज़ान का पाक महीना शुरू हो गया है। एक तरफ माता की चौकी सजी है तो वहीं मस्जिदों में इबादत का सिलसिला शुरू हो गया है। रमज़ान का महीना शुरू होने के साथ ही मस्जिदों में Loudspeaker पर तेज़ आवाज़ में नमाज़ पढ़ने को लेकर एक बार फिर बहस छिड़ गई है। इस बार महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के प्रमुख Raj Thackeray ने इसके ख़िलाफ़ आवाज़ उठाई है।

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) के प्रमुख Raj Thackeray ने महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार से मस्जिदों से Loudspeaker हटाने की मांग की। मुंबई के शिवाजी पार्क में एक रैली में अपने समर्थकों को संबोधित करते हुए Raj Thackeray ने कहा, “मस्जिदों में लाउडस्पीकर इतनी अधिक मात्रा में क्यों बजाए जाते हैं? अगर इसे नहीं रोका गया तो मस्जिदों के बाहर अधिक मात्रा में हनुमान चालीसा के स्पीकर बजने लगेंगे।” Raj Thackeray ने कहा, “मैं प्रार्थना या किसी विशेष धर्म के खिलाफ नहीं हूं। मुझे अपने धर्म पर गर्व है।”

Raj Thackeray ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर निशाना साधते हुए कहा कि सीएम ने चुनावों के दौरान जिन ताकतों का विरोध किया था, उन्हीं के साथ गठबंधन कर सरकार चला रहे हैं। Raj Thackeray ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देवेंद्र फडणवीस को हमेशा मुख्यमंत्री के रूप में पेश किया था और उद्धव ने कभी एक शब्द नहीं कहा। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के परिणाम घोषित होने के बाद ही उन्हें मुख्यमंत्री बनने और विपक्षी दलों के साथ गठबंधन करने का विचार आया।

Raj Thackeray ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) पर भी हमला किया। Raj Thackeray ने राकांपा पर गठन के बाद से ही राज्य में जाति आधारित नफरत फैलाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, “आज लोग राज्य में जाति के मुद्दों पर लड़ रहे हैं। हम कब इससे बाहर निकलेंगे और हिंदू बनेंगे?”

Raj Thackeray ने हाल ही में मुंबई में विधायकों को घर देने की राज्य सरकार की घोषणा की भी आलोचना की थी। उन्होंने कहा था, “उनकी पेंशन पहले रोकी जानी चाहिए। क्या वे अपने काम से लोगों पर कोई एहसान कर रहे हैं? उनके बंगले ले लो और फिर उन्हें घर दे दो। इस योजना में भी मुख्यमंत्री को क्या अच्छा लग रहा है। क्या इस योजना में भी कुछ ऐसा है जो रुचिकर है?”

यह भी पढ़ें – BJP उठा रही है ‘अज़ान’ बंद करने की मांग, जानें पूरी ख़बर

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है