जानें, क्या है Delirium, Corona से Delirium होने का बढ़ रहा है ख़तरा

0
68

बीमारी कोई भी हो उसका प्रभाव बुरा ही होता है। Coronavirus ने लोगों पर इतना बुरा असर डाला कि उनका शरीर इस बीमारी को झेलने के क़ाबिल ही नहीं रहा और उनकी मृत्यु हो गई। आज सभी जगह Corona Vaccine लगाई जा रही है जिससे लोगों के मरने के आंकड़े में तो कमी देखी जा रही है लेकिन उनके शरीर में बाक़ी बीमारियों के लक्षण देखे जा रहे हैं।

अमेरिका में अस्पताल में भर्ती हुए 150 Corona मरीजों के एक अध्ययन में पाया गया कि 73 प्रतिशत मरीजों को Delirium नामक बीमारी थी। एक प्रकाशित अध्ययन में यह पाया गया कि Delirium के मरीज उच्च रक्तचाप और मधुमेह जैसी बीमारियों से भी पीड़ित रहते हैं और उनमें Covid-19 संबंधी लक्षण अधिक गंभीर दिखाई देते हैं। मिशिगन विश्वविद्यालय के लेखक ने कहा कि Covid-19 का संबंध कई अन्य प्रतिकूल नतीजों से भी है जिससे लंबे समय तक अस्पताल में भर्ती रहना पड़ सकता है।

करीब एक चौथाई मरीज अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद भी Delirium से पीड़ित पाए गए। निष्कर्ष के तौर पर यह कहा जा सकता है कि Covid-19 के गंभीर लक्षणों के साथ अस्पताल में भर्ती हुए मरीजों के अवसाद ग्रस्त और Delirium से पीड़ित होने की संभावना बहुत अधिक है।

जानें, क्या होता Delirium

Delirium बेहोशी की एक गंभीर स्थिति है जिसमें दिमाग के ठीक तरह से काम न करने के कारण व्यक्ति भ्रम, उत्तेजना में रहता है और स्पष्ट रूप से सोच-समझ नहीं पाता।

अध्ययनकर्ताओं ने मार्च और मई 2020 के बीच ICU में भर्ती रहे मरीजों के एक समूह को अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद उनके Medical Records और टेलीफोन पर किए गए सर्वेक्षण का इस्तेमाल किया। अनुसंधानकर्ताओं ने पाया कि Delirium से ही दिमाग में ऑक्सीजन की कमी हो सकती है और साथ ही खून के थक्के जम सकते हैं और आघात(जख्म) आ सकता है जिससे सोचने-समझने की क्षमता खो सकती है। उन्होंने बताया कि Delirium के मरीजों में दिमाग में सूजन बढ़ गई। दिमाग में सूजन से भ्रम और बेचैनी बढ़ सकती है।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है