वक़्त बदलता जा रहा है ऐसे में लड़के पहले की तरह माता पिता के कहे अनुसार तेल लगा कर शरीफ बच्चों की तरह बाल नहीं बनाते और न ही क्लीन शेव रहते हैं। कम उम्र में ही आज कल के लड़के दाढ़ी (Dadhi) रखने लग जाते हैं। घरवालों के साथ साथ आस पड़ोस के लोग भी उन्हें डांटते हैं और कहते हैं ये क्या हाल बनाया हुआ है लेकिन ये ख़बर पढ़ने के बाद आप अपने बच्चों को Dadhi रखने से मना नहीं करेंगे।

आजकल Youth Group में Dadhi रखने का प्रचलन तेजी से बढ़ रहा है। Celebrity या अन्य किसी को देखकर युवा Dadhi रख रहे हैं, लेकिन यह Dadhi हमारी किस्मत से भी जुड़ी है। ज्योतिषीय योग के मुताबिक कई बार ऐसे योग होते हैं जिसमें Dadhi रखने से धन और यश की प्राप्ति होती है, लेकिन कई बार हानि भी होती है। चूंकि Dadhi रखते वक्त इन पर किसी का ध्यान ही नहीं जाता, ऐसे में वे कुछ समझ ही नहीं पाते कि Dadhi की वजह से भी नुकसान हो रहा है।

यूपी पंचायत चुनाव: बड़ी पार्टियों के लिए सिरदर्द बन सकती हैं छोटी पार्टियां

ज्योतिषीय दृष्टि से किसे Dadhi रखनी चाहिए और किसने नहीं, इसका बाकायदा गणित है। यदि जन्म कुंडली में लग्न पर केतु का प्रभाव अथवा सिंह राशि में Rahu Ketu का विशेष प्रभाव हो ऐसे जातक को Dadhi रखनी चाहिए। Dadhi रखने का मतलब यह नहीं कि पूरी तरह से साधु-सन्यासी जैसा वेश बना लें। हल्की दाढ़ी या French cut Dadhi रखने से भी लाभ मिलेगा। लेकिन जिन लोगों का शुक्र (Shukra) प्रबल है, उच्च अभिलाषी हैं और जिन्हें Shukra के अच्छे परिणाम को मिल रहे हैं, Shukra की महादशा चल रही है तो उन्हें दाढ़ी नहीं रखनी चाहिए।

यदि ऐसे लोग Dadhi रखना शुरू कर देंगे तो Shukra का असर कम हो जाएगा और उन्हें हानि होने लगेगी। ज्योतिषीय गणना में शुक्र को शरीर पर अनपेक्षित बाल पसंद नहीं है। इसलिए Shukra की महादशा में Shukra को बलवान करने के लिए अपना चेहरा सुंदर रखें और दाढ़ी ना बढ़ाएं। इस स्थिति में दाढ़ी Shukra संबंधी Good Effects को नष्ट कर सकती हैं।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है