ठंड के मौसम में खान-पान का रखें विशेष ध्यान

ठंड का मौसम अपने साथ कई परेशानियां लेकर आता है। दरअसल मौसम में हुए बदलाव के कारण ठंड के मौसम में कई बीमारियों का खतरा भी बना रहता है क्योंकि हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है। ऐसे में इन बीमारियों के बारे में जानकारी होने पर हम खुद का बचाव कर सकते हैं। अपनी इस रिपोर्ट में हम ठंड के मौसम में होने वाली बीमारियों के बारे में बताएंगे

सर्दी जुकाम और खराश

सर्दी के मौसम में खांसी-जुकाम आम समस्या है। अमूमन हर कोई इस समस्या से परेशान रहता है लेकिन अगर इस परेशानी का समय पर ध्यान नहीं रखा गया तो सर्दी-जुकाम गले में खराश की वजह भी बन जाता है। ऐसे में ठंडी चीजों को खाने से परहेज करना चाहिए। साथ ही शरीर को गर्म भी रखना चाहिए। नमक पानी के गरारे गले की खराश के दौरान उपयोगी साबित होते हैं

सिरदर्द

सर्दियों के मौसम में सिरदर्द की समस्या आम है। लेकिन ऐसे में लापरवाही बिल्कुल भी नहीं करनी चाहिए। सर्दियों के मौसम में सिरदर्द की समस्या से बचने के लिए ठंडी हवाओं से खुद को बचाना बेहद जरूरी है। शरीर को गर्म कपड़ों से ढंककर रखना चाहिए ताकि शरीर में गर्माहट बनी रहे

अगर आपकी Coffee नहीं बनती होटल जैसी तो अपनाएं ये टिप्स

सांस की परेशानी

सर्दी के मौसम में अस्थमा के रोगियों की दिक्कतें बढ़ जाती हैं। ठंडी हवा या ठंडी जगहों पर जाने की वजह से ये समस्या बढ़ जाती है। ऐसे में डॉक्टर की सलाह लेना बेहद जरूरी है। साथ ही दवा को साथ रखना भी बेहद जरूरी है

 जोड़ों की परेशानी

जोड़ों में दर्द की परेशानी ज्यादातर लोगों को होती है जो ठंड के मौसम में बढ़ जाती है खास तौर पर महिलाओं और बुजुर्गों को इस तरह की समस्याओं से दो-चार होना पड़ता है। ऐसे में सर्दी के मौसम में जोड़ों की मालिश करने के साथ खान-पान का ध्यान रखना भी बेहद जरूरी है

ब्लडप्रेशर की परेशानी

सर्दियों में रक्तचाप ज्यादा होने की वजह से हृदय संबंधी परेशानियां बढ़ जाती हैं। ऐसे में एक्सरसाइज करना बेहद जरूरी है। व्यायाम के साथ साथ सही उपचार भी बेहद जरूरी है

सीने में दर्द

सर्दियों में ठंड लगने पर कफ या फिर दूसरे कारणों की वजह से सीने में दर्द की शिकायत होती है। कभी भी सीने में ये दर्द जलन की वजह भी बन जाता है जिसके कारण सांस लेने में तकलीफ हो सकती है। ऐसे में डॉक्टर का परमार्श लेना बेहद जरूरी है

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं