बेटी Rohini Acharya के पास किडनी का इलाज कराने पहुंचे Lalu Prasad Yadav

0
200

बढ़ती उम्र के साथ ही इंसान के शरीर के अंग ख़राब होने लगते हैं ऐसे में उनकी देखभाल और वक़्त पर इलाज बेहद ज़रूरी होता है। राष्ट्रीय जनता दल (RJD) सुप्रीमो Lalu Prasad Yadav किडनी के इलाज के लिए मंगलवार(11 अक्टूबर) की रात सिंगापुर पहुंचे। उनके साथ उनकी पत्नी और बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और उनकी सांसद बेटी मीसा भारती भी थीं। इसके अलावा उनके साथ सिंगापुर जाने वालों में विधान पार्षद सुनील सिंह, Lalu Prasad Yadav के करीबी माने जाने वाले सुभाष यादव और दो सेवक भी शामिल हैं।

सिंगापुर पहुंचने पर Lalu Prasad Yadav की बेटी Rohini Acharya ने उनका स्वागत किया। उन्होंने पैर छूकर अपने मां-पिता का आशीर्वाद लिया। बता दें कि रोहिणी एयरपोर्ट पर अपने पिता का इंतज़ार कर रही थीं। लालू यादव व्हीलचेयर पर बैठकर एयरपोर्ट से बाहर निकले, जहां उनकी बेटी ने पैर छूकर पिता का आशीर्वाद लिया। Rohini ने खुद यह वीडियो पोस्ट किया है। उन्होंने लिखा, ‘जिनका हौसला आसमान से ऊंचा है। मेरे पापा के जैसा दुनिया में न कोई दूजा है।’

तेजस्वी यादव ने बताया कि Lalu Prasad Yadav को किडनी की समस्या है। दिल्ली के एम्स के डॉक्टरों की सलाह के मुताबिक वे नियमित रूप से दवा ले रहे हैं, लेकिन सिंगापुर में किडनी की बीमारियों के इलाज का दुनिया में सबसे बेहतर इंतजाम है। लिहाजा हमने उन्हें वहां ले जाने का फैसला किया। वहां डॉक्टरों से उन्हें दिखाया जाएगा। फिलहाल डॉक्टरों ने किडनी ट्रांसप्लांट की सलाह नहीं दी है, लेकिन सिंगापुर में डॉक्टर जो सलाह देंगे वैसा किया जाएगा।

जानें, किस बीमारी से जूझ रहे हैं Lalu Yadav

Lalu Prasad Yadav को डाइबिटीज, ब्लड प्रेशर, ह्रदय रोग, किडनी की बीमारी, किडनी में स्टोन, तनाव, थैलीसीमिया, प्रोस्टेट का बढ़ना, यूरिक एसिड का बढ़ना, ब्रेन से सम्बंधित बीमारी, कमज़ोर इम्युनिटी, दाहिने कंधे की हड्डी में दिक्कत, पैर की हड्डी की समस्या और आंख में दिक्कत जैसी कई बीमारियों ने घेर रखा है। पर उनकी सबसे बड़ी समस्या किडनी की ही है। लालू की किडनी लेवल फोर में यानी लास्ट स्टेज में है जो 20 से 25 प्रतिशत तक ही काम करती है। ऐसे में उनका किडनी ट्रांसप्लांट होगा या नहीं, इस पर सिंगापुर में ही फैसला होगा।

यह भी पढ़ें – अब UP के स्कूलों में भी होगी NCERT किताबों से पढ़ाई

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है