जानें, Corona के खतरे बीच कॉन्टैक्ट लेंस लगाना कितना सही!

0
861

Corona virus के बढ़ते खतरे को देखकर हर इंसान ऐसा कोई भी काम नही करना चाहता जिससे उसे या उसके घर पर किसी को भी इस संक्रमण का खतरा हो। Corona virus का खौफ ऐसा है कि लोग बेहद डरे हुए हैं। कुछ भी करने से पहले कुछ सवाल दिमाग में आते हैं कि कहीं ऐसा करने से Corona संक्रमण तो नहीं हो जाएगा। बहुत से लोग Contact Lens का इस्तेमाल करते हैं ऐसे में लोगों को लगता है कि कहीं Contact Lens के इस्तेमाल से तो वो Corona virus की चपेट में नहीं आ जाएंगे। इतना ही नहीं लोगों को लगता है कि Corona का टेस्ट बहुत अधिक कष्टदायक होता है?… इस तरह के सवालों का जवाब हम आपको बताएंगे…

Corona संक्रमण से जुड़े मिथ और सच्चाई

Corona का टेस्ट बहुत ज़्यादा कष्टदायक होता है ?

जवाब : इस बात में बिलकुल सच्चाई नहीं है। हो सकता है कि सैंपल लिए जाने के दौरान थोड़ी-सी परेशानी महसूस हो। दरअसल, व्यक्ति में Corona virus की मौजूदगी की जांच करने के लिए नमूने नाक व गले के पिछले हिस्से आदि से लिए जाते हैं तथा लंग्स से फ्लूइड लिया जाता है। इससे थोड़ी असहजता हो सकती है, लेकिन यह डराने या दर्द देने वाली प्रक्रिया नहीं होती।

ग्लव्स पहनने से क्या Corona संक्रमण से बचा जा सकता है ?

जवाब : ध्यान दें कि ग्लव्स पहनने की बजाय हाथों की साफ-सफाई पर ज़्यादा ध्यान देना चाहिए। रबर के दस्ताने पहनने की तुलना में नियमित रूप से हाथों को धोने से अधिक सुरक्षा मिलती है। WHO का भी कहना है कि Corona को फैलने से तभी रोक सकते हैं, जब हाथों को बार-बार धोएं। इसलिए कोशिश करें कि हाथों को साफ रखें।

घर में बने मास्क को भी हर इस्तेमाल के बाद बदलना जरूरी है ?

जवाब : सीडीसी ने भी माना है कि घर पर बना Mask किसी संक्रमित व्यक्ति के खांसने या छींकने पर निकलने वाली बूंदों को आप तक पहुंचने से रोकता है। यह उन लोगों के लिए बेहतर है, जो बीमार नहीं हैं। कपड़े से बने ये Homemade Mask धोने योग्य होते हैं, इसलिए इनका दोबारा इस्तेमाल किया जा सकता है। लेकिन आपको इस Mask को साफ रखना ज़रूरी है।

Contact Lens के इस्तेमाल से Corona संक्रमण का हो सकता है खतरा ?

जवाब : इतने दिनों में हम सभी ये जान गए हैं कि Corona virus से बचने के लिए अपने मुँह को बचा के रखना बेहद ज़रूरी है। आंख और नाक बेहद पास के अंग होते हैं। जब किसी वजह से आप अपनी आंखों को छूते हैं, तो Virus आंखों में पहुंच सकता है, नाक के रास्ते श्वसन नली तक पहुंच सकता है और फेफड़ों के टिश्यू पर हमला भी कर सकता है। यदि आप Contact Lens पहनते हैं तो हाइजीन का खास ख्याल रखें या फिर संभव हो तो चश्मे का इस्तेमाल करें। ध्यान दें किसी भी हाल में गंदे हाथों को चेहरे पर न लगाएं।

ज़रूरी बात Covid-19 सांस से जुड़ी हुई बीमारी है, जो संक्रमित व्यक्ति के छींकने, खांसने या बोलने से निकलने वाले ड्रॉपलेट के जरिये फैलती है। लोग संक्रमित सतहों के संपर्क में आने और उसके बाद अपने आंख, नाक और मुंह को छूने से भी Covid-19 से संक्रमित हो सकते हैं।
(सभी सवालों के जवाब World Health Organization,केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और विशेषज्ञों द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर हैं)

यह भी पढ़ें – ‘Giloy’ पीने से लिवर हो रहा है खराब, आप भी सोच समझकर करें इस्तेमाल

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है