बर्फबारी के बाद रोकी गई Kedarnath Yatra, मौसम विभाग में जारी किया अलर्ट

0
398

कुछ दिनों से अचानक बदले मौसम ने लोगों को राहत तो दी है लेकिन कुछ लोगों को ये मौसम परेशान कर रहा है। बदरीनाथ की पहाड़ियों में मौसम का पहला हिमपात हुआ है। पिछले तीन दिनों से लगातार हो रही भारी बारिश के बाद ऊंचाई वाले क्षेत्रों में सर्दी ने दस्तक दे दी है। मौसम विभाग की ओर से भारी बारिश की चेतावनी जारी करने के बाद Kedarnath Yatra रोक दी गई है। बदरीनाथ की ऊंची पहाड़ियों में मौसम की पहली बर्फबारी हुई है।

बर्फबारी के बाद कड़ाके की ठंड हो रही है। बता दें कि श्राद्ध पक्ष के कारण भारी संख्या में तीर्थयात्री अपने पितरों का पिंडदान करने बदरीनाथ पहुंच रहे हैं। पहाड़ों में हुई बर्फबारी को देखकर पर्यटन और तीर्थाटक काफी रोमांचित हो रहे है। वहीं, गंगा का जलस्तर बढ़ने से ऋषिकेश में राफ्टिंग बंद कर दी गई।

गंगोत्री और बदरीनाथ हाईवे बार-बार बंद होने के कारण ऋषिकेश में चारधाम यात्रियों को रोक दिया गया।  रुद्रप्रयाग के पुलिस अधीक्षक आयुष अग्रवाल ने बताया कि दो दिन के लिए भारी बारिश की चेतावनी के बाद शनिवार सुबह ग्यारह बजे के बाद यात्रियों को Kedarnath नहीं जाने दिया गया। जबकि, Kedarnath गए यात्रियों से दर्शन के बाद वापस जाने का आग्रह किया है। एसपी ने बताया कि शनिवार को मौसम को देखते हुए ही यात्रा संचालित की जाएगी। हालांकि सुबह 11 बजे तक 7665 तीर्थयात्री Kedarnath धाम के लिए रवाना हो गए। करीब 5 हजार यात्री सीतापुर, सोनप्रयाग, गौरीकुंड में रुके हुए हैं।

पहाड़ में हो रही बारिश के कारण गंगा का जलस्तर बढ़ जाने से शुक्रवार दोपहर बाद ऋषिकेश में राफ्टिंग का संचालन बंद कर दिया गया। टिहरी के साहसिक पर्यटन अधिकारी के एस नेगी ने बताया कि जलस्तर सामान्य होने के बाद फिर से राफ्टिंग की अनुमति दी जाएगी।

यह भी पढ़ें – Jhalak Dikhhla Jaa : आख़िर सेट पर फूट- फूटकर क्यों रोने लगे Karan Johar

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है