दरवाज़ा कोई भी हो वो घुसने और निकलने के लिए ज़रूरी होता है लेकिन यही दरवाज़ा मौत का दरवाज़ा भी हो सकता है ये बात शायद ही किसी को समझ आए। केरल के कोट्टयम में 10 साल के एक बच्चे के लिए Train के टॉयलेट का गेट मौत का दरवाज़ा बन गया।

जानें पूरा मामला

केरल के कोट्टयम में 10 साल के एक बच्चे ने चलती Train में टॉयलेट का दरवाजा समझकर एग्जिट डोर खोल दिया और गिरने से उसकी मौत हो गई। बच्चा चलती Train से गिर गया था और मृत मिला। माना जा रहा है कि टॉयलेट का गेट समझकर मेन डोर खोलने से उसके साथ यह हादसा हो गया। मलप्पुरम के मामबाडु के रहने वाले सिद्दीकी के बेटे मोहम्मद इशान के साथ यह हादसा रात को 12:30 बजे के करीब हुआ। यह हादसा उस वक्त हुआ, जब सिद्दीकी का परिवार तिरुअनंतपुरम से मलप्पुरम वापस आ रहा था। उनका बेटा रात को टॉयलेट जाने के लिए उठा और शायद गलती से उसने एग्जिट डोर खोल दिया और आगे बढ़ गया।

परिवार के सदस्यों ने कहा कि उन्हें जैसे ही लगा कि बेटा गिर गया है तो उन्होंने चेन खींचकर Train को रुकवाया। लेकिन बच्चे को बचाया नहीं जा सका और वह पटरियों के पास मिला। Train रुकवाने के बाद आसपास बसे लोगों की मदद से बच्चे को तलाश करने की कोशिश की गई। कुछ देर में वह मिला तो उसे तत्काल अस्पताल ले जाया गया, लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। रेल यात्रा के दौरान हुआ यह भीषण और दर्दनाक हादसा डराने वाला है। यही नहीं बच्चों को लेकर रेल सफर के दौरान कितना सतर्क होना जरूरी है, यह भी बताता है।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है