Home Politics Iran में 9 साल के बाद Hijab पहनना ज़रूरी, जानें वजह

Iran में 9 साल के बाद Hijab पहनना ज़रूरी, जानें वजह

0

‘Hijab’ जितना छोटा सा शब्द लगता है उतने ही सख़्त इसके नियम हैं। Hijab इन दिनों खूब चर्चा में है। महिलाओं के लिए Hijab पहनने को लेकर शुरू हुआ विवाद भारत से ज्यादा Iran में चर्चा में बना हुआ है। भारत में Hijab पहनने का मुद्दा यूनिफॉर्म में इसे शामिल करने को लेकर है जबकि, ईरान में महिलाएं हिजाब की अनिवार्यता हटाने को लेकर आमादा हैं।

22 साल की अमीनी की मौत के बाद से महिलाओं में गुस्सा चरम पर है। हालांकि ऐसा पहले नहीं था। कभी पश्चिमी देशों की तरह खुलेपन के माहौल में जीने वाले Iran में 1979 के बाद सबकुछ बदल गया। इस्लामिक क्रांति के बाद से देश में अयातुल्लाह खोमैनी ने सत्ता संभाली और शरिया कानून लागू किया। Hijab की अनिवार्यता ईरान के अलावा सिर्फ तालिबान शासित अफगानिस्तान में है। इससे उलट दुनिया के 55 अन्य मुस्लिम बहुल देशों में ऐसे नियम नहीं हैं। ईरान में तो 9 साल की उम्र के बाद से हर महिला को हिजाब पहनना जरूरी है। इन नियमों के पालन के लिए बाकायदा अलग से पुलिस व्यवस्था भी है।

Iran की धरती इस वक्त Hijab के विरोध को लेकर दुनियाभर में चर्चा में बनी हुई हैं। यहां की महिलाओं ने Hijab पहनने के खिलाफ एक अनोखा सोशल मीडिया कैंपेन शुरू किया है। No To Hijab Campaign में महिलाएं सोशल मीडिया पर बिना Hijab की तस्वीरें पोस्ट कर रही हैं। साथ ही Hijab जलाते हुए और अपने बालों को काटते हुए सोशल मीडिया पर तस्वीरें-वीडियो जारी कर रही हैं।

Iran पहले ऐसा नहीं था। Iran के लोगों में पहले पश्चिमी देशों की तरह खुलापन था लेकिन, 1979 में आई इस्लामिक क्रांति ने सबकुछ बदल दिया। शाह मोहम्मद रेजा पहलवी को हटाकर धार्मिक नेता अयातुल्लाह खोमैनी ने सत्ता संभाली और ईरान में शरिया कानून लागू कर दिया। हालांकि यह और बात है कि दुनिया के 195 देशों में से 57 मुस्लिम बहुल हैं। इनमें से 8 में शरिया कानून का सख्ती से पालन किया जाता है। जबकि सिर्फ दो ही देश ऐसे हैं जहां महिलाओं को घर से निकलने पर हिजाब पहनना ज़रूरी है। इन देशों में Iran के अलावा अफगानिस्तान भी शामिल है। अफगानिस्तान में इस वक्त तालिबान का शासन है।

यह भी पढ़ें – Raju Srivastava Funeral : पंचतत्‍व में विलीन हुए राजू, जो कभी हस्ते थे वो चेहरे हुए उदास

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है

Exit mobile version