लॉन्‍च हुआ भारत का First Private Rocket Vikram-S

0
166

आज का दिन भारत के लिए बेहद ख़ास है। देश की पहली प्राइवेट स्पेस कंपनी अंतरिक्ष स्टार्टअप Skyroot Aerospace का रॉकेट Vikram-S सफलतापूर्वक लॉन्‍च हो गया है। इस मिशन का नाम ‘प्रारंभ’ रखा गया है। Vikram-S Rocket ने श्रीहरिकोटा में ISRO के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से उड़ान भरी।

हैदराबाद स्थित स्टार्टअप स्काईरूट एयरोस्पेस को इससे पहले Vikram-S का प्रक्षेपण खराब मौसम की वजह से टालना पड़ा था। इंडियन नेशनल स्पेस प्रमोशन एंड ऑथराइजेशन सेंटर (IN-SPACe) के अध्यक्ष पवन कुमार गोयन ने इस अवसर पर कहा, ‘ मुझे मिशन प्रारंभ – स्काईरूट एयरोस्पेस की शुरुआत के सफल समापन की घोषणा करते हुए खुशी हो रही है। यह भारत के निजी क्षेत्र के लिए सुखद शुरुआत है, जो अंतरिक्ष के क्षेत्र में कदम रखने जा रहे हैं और एक ऐतिहासिक क्षण हैं। इसे कभी भुलाया नहीं जा सकता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विक्रम-एस को देश की अंतरिक्ष में उड़ान को क्रांतिकारी बदलाव करार दिया था। पीएम मोदी ने 30 अक्टूबर को अपने ‘मन की बात’ कार्यक्रम में इसे लेकर कई बातें कही थी। उन्‍होंने कहा था कि निजी क्षेत्र के लिए अंतरिक्ष के खुलने से कई युवा स्टार्ट-अप इस क्षेत्र में काम करना चाह रहे हैं।

Vikram-S की सफल से अंतरिक्ष की दुनिया के कई रास्‍ते खुलेंगे। Vikram-S से कई प्रयोग किए जा रहे हैं। रॉकेट ने एक सब-ऑर्बिटल उड़ान भरी है। बताया जा रहा है कि यह सिंगल स्टेज का सब-ऑर्बिटल लॉन्च व्हीकल है और इसके साथ तीन कमर्शियल पेलोड्स भेजे गए हैं। इस लॉन्चिंग में आम ईंधन के बजाय LNG यानी लिक्विड नेचुरल गैस और लिक्विड ऑक्सीजन (LoX) का इस्‍तेमाल किया गया है, जो किफायती होने के साथ-साथ प्रदूषण मुक्त भी है। Vikram-S का लॉन्‍च एक तरह की टेस्‍ट फ्लाइट है। अगर इसमें सफलता मिलती है, तो भारत प्राइवेट स्पेस कंपनी के रॉकेट लॉन्चिंग के मामले में दुनिया के अग्रणी देशों में शामिल हो जाएगा।

यह भी पढ़ें – किडनी दान पर Rohini Acharya बोलीं, ‘ये तो बस एक छोटा सा मांस का टुकड़ा है, पापा के लिए कुछ भी कर सकती हूं’

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है