भारतीय नौसेना को मिली INS कवरात्ती

भारतीय नौसेना को जंग के लिए मिला एक और हाथी. जी हाँ नौ सेना को प्रोजेक्ट 28 के तहत INS कवरत्ती कमीशन किया गया जिससे भारतीय नौ सेना की ताक़त में और इज़ाफा होगा इस युद्धपोत का नाम केंद्रशासित प्रदेश लक्षद्वीप की राजधानी कवराती के नाम पर रखा गया है जिसे INS कवरात्ती का उत्तराधिकारी कहा जा रहा है। INS कवरती ने ऑपरेशन ट्राइडेंट में भी हिस्सा लिया था। वहीँ इस एन्टी सबमरीन वारफेयर शिप को आर्मी जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने आज कमीशन किया है। … वहीँ प्रोजेक्ट 28 के बारे में आपको जानकारी दे देते हैं दरअसल इस  प्रोजेक्ट  को 2003 में  मंजूरी दी गयी थी जिसमे 4 ऐसी शिप भारतीय नौ सेना को दी जानी थी इस प्रोजेक्ट को कमोर्ता क्लास भी कहा जाता है बता दें इसी क्लास की 3 शिप  पहले भारतीय नौ सेना को दी जा चुकी है वो हैं आईएनएस कमोर्टा जोकि 2014 में कमीशन की गयी थी , आईएनएस कदमत्त जोकि  2016 में कमीशन की गयी थी और आईएनएस किल्तन  जोकि 2017 में कमीशन की गयी थी वहीँ आज कवरात्ती कमीशन किया गया है जिसका कंस्ट्रक्शन 2012 में शुरू होगया था

अब बात करेंगे इस शिप की खासियत के बारे में सबसे ख़ास बात इस शिप की ये है की ये शिप 90 प्रतिशत भारत में बनी है वहीँ इस शिप का प्रोजेक्ट कोलकता के Garden Research Shipbuilders और Engineers  को दिया गया था वहीँ इस शिप में 3 डायमेंशनल रैडार है जिसकी रेंज 200 KM से भी ज्यादा है इसकी मदत से तक़रीबन 150 टार्गेट को ट्रैक किया जा सकता है वहीँ अपडेटेड सेंसर सिस्टम के साथ ये शिप काफी एडवांस मानी  जा रही है लेकिन बताया गया की इस शिप का वेपन पैकेज काफी निराशाजनक है लेकिन आने वाले समय में मिसाइल सिस्टम में सरफेस टू सरफेस मिसाइल सिस्टम लगाया जाएगा और पूरे वैपन पैकेज में सुधार लाया जाएगा  और जब आने वाले समय में इस शिप को MH60R मिल जायगा तो इसकी मारक क्षमता और बढ़ जाएगी

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है