भारत और चीनी सैनिकों के बीच झड़प में 20 चीनी सैनिक घायल

देश भर में 26 जनवरी को लेकर तैयारी चल रही हैं ऐसे में देश का सैनिक सिमा पर हर वक़्त तैनात है वहीं भारत और चीन के बीच पिछले साल मई की शुरुआत से सीमा पर गतिरोध जारी है। इसी बीच एक बार फिर से भारत और चीन के जवानों के बीच Line of Actual Control पर झड़प की खबर सामने आई है। 3 दिन पहले नाकुला में भारत और चीनी सैनिकों के बीच झड़प हो गई। इसमें Indian Army के 4 जवान जबकि चीन के 20 सैनिक घायल हो गए हैं।

Sikkim के नाकुला में चीनी सेना द्वारा घुसपैठ की कोशिश उस समय की गई है जब चीनी सेना ने पूर्वी लद्दाख से अपने 10 हजार जवानों को हटाया है। सरकार के सूत्रों के अनुसार, चीनी सेना ने पूर्वी लद्दाख के अलावा सिक्किम सहित कई स्थानों से अपनी तैनाती को कम किया है लेकिन भारतीय जवान अब भी डटे हैं। वे चीन की किसी भी हरकत का जवाब देने के लिए मुस्तैद हैं। ख़बरों के मुताबिक, यह झड़प तीन दिन पहले सिक्किम के नाकुला में हुई जब पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के सैनिकों ने यथास्थिति को बदलने की कोशिश की थी। उसके कुछ सैनिकों ने भारतीय क्षेत्र में बढ़ने की कोशिश की। सीमा पर तैनात Indian Army के चौकस जवानों ने तुरंत कार्रवाई करते हुए उन्हें रोक दिया।

भारत-चीन के बीच 15 घंटे चली मैराथन बैठक

3 दिन पहले नाकुला में भारत और चीनी सैनिकों के बीच झड़प हो गई। इसमें Indian Army के 4 जवान जबकि चीन के 20 सैनिक घायल हो गए हैं। भारतीय जवानों ने न केवल चीन के मंसूबों पर पानी फेरा बल्कि पीएलए के सैनिकों को भी खदेड़ दिया। फिलहाल सीमा पर स्थिति तनावपूर्ण लेकिन स्थिर है। भारतीय सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि भारतीय क्षेत्र के साथ सभी प्वॉइंट पर मौसम की स्थिति खराब होने के बावजूद कड़ी चौकसी बरती जा रही है।

Border पर जारी तनाव को कम करने के लिए रविवार को मोल्डो में भारत और चीन ने नौंवे दौर की कॉर्प्स कमांडर स्तर की वार्ता की जो देर रात ढाई बजे तक चली। 15 घंटे तक चली इस वार्ता में Border पर तनाव कम करने को लेकर बातचीत हुई। वार्ता के दौरान भारत ने इस बात पर जोर दिया है कि टकराव वाले क्षेत्रों में डिसइंगेजमेंट और De-escalation की प्रक्रिया को आगे बढ़ाना चीन के ऊपर है।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं