Coronavirus से न जाने कितने घर तबाह हो गए और न जाने कितने ही लोग भूखे पेट सोने को मजबूर हो गए। हम भाग्यशाली हैं जो पेट भर कर खाना खा रहे हैं। खाने की क़ीमत क्या होती है ये तो कई रोज़ से भूखा इंसान ही बता सकता है। दुनिया भर में 7 जून को हर साल विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस यानी World Food Safety Day मनाया जाता है। World Food Safety Day को मनाए जाने की वजह Food Safety के प्रति उन लोगों को जागरुक करना है जो खराब भोजन का सेवन करने की वजह से गंभीर रोगों से ग्रस्त हो जाते हैं। साथ ही यह सुनिश्चित किया जाना है कि हर व्यक्ति को पर्याप्त मात्रा में सुरक्षित और पौष्टिक भोजन मिल सके।

Food Safety यह सुनिश्चित करती है कि खाद्य सामग्री के उपभोग से पहले फसल का उत्पादन, भंडारण और वितरण तक खाद्य श्रृंखला का हर स्टेप पूरी तरह से सुरक्षित हो। इसी की वजह से Food Safety Day का महत्व बढ़ जाता है। World Health Organization के अनुसार दूषित खाद्य या बैक्टीरिया युक्त खाद्य से हर साल 10 में से एक व्यक्ति बीमार होता है। विश्व भर आबादी के अनुसार अगर देखा जाए तो यह आंकड़ा साठ करोड़ पार कर जाता है। दुनियाभर में विकसित और विकासशील देशों में हर वर्ष भोजन और जलजनित बीमारी से लगभग 30 लाख लोगों की मौत हो जाती है।

ये दिन Food Safety के प्रति लोगों को जागरुक करता है और इस दिन को मनाये जाने की घोषणा दिसंबर 2018 में संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा खाद्य और कृषि संगठन के सहयोग से की गयी थी। यह खाद्य जनित रोगों के संबंध में दुनिया पर पड़ने वाले बोझ को पहचानने के लिए था। World Health Organization और Food and Agriculture Organization इस क्षेत्र से संबंधित अन्य संगठनों के सहयोग से world food safety day मनाने के लिए मिलकर काम करते हैं। World Health Assembly ने दुनिया में खाद्य जनित बीमारियों के बोझ को कम करने के लिए Food Safety की दिशा में प्रयासों को मजबूत करने का निर्णय लिया है।

यह भी पढ़ें: National Cheese Day पर बच्चों को बनाकर खिलाएं Cheese Macaroni

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है