अगर आप भी घंटो खुद को काम में व्यस्त रखते हैं तो हो जाइये सावधान। अब आप सोच रहें होंगे भला यह कैसी बात हुई, काम में व्यस्तता तो अच्छी बात है। काम करना तो ठीक है पर घंटो बस काम में ही खुद को उलझाये रखना आपके दिल के लिये घातक हो सकता है। काम ज्यादा होने की वजह से लोग अपने स्वास्थय पर बिल्कुल ध्यान नहीं दे रहें हैं, फिजिकल एक्टिविटिज़ और व्यायाम को अपने दिनचर्या में नहीं ला पा रहें हैं। इसे लेकर WHO के आँकड़े काफी चौंकाने वाले हैं। WHO के अनुसार 2016 में स्ट्रोक और हार्ट डिजिज़ से 745,000 लोगों की मौत हो चुकी है और यह लगातार कई घंटो तक काम करने का नतीज़ा है।

काम का बोझ दिन-ब-दिन बढ़ता ही जा रहा है और इसका सीधा असर स्वास्थय पर हो रहा है। रिपोर्ट के अनुसार, लंबे समय तक काम करना स्वास्थ्य के लिए जानलेवा हो सकता है. डब्ल्यूएचओ और आईएलओ के अनुसार 2016 में, सप्ताह में कम से कम 55 घंटे काम करने की वजह से 398, 000 लोगों की स्ट्रोक से और 347,000 लोगों की हृदय रोग से मृत्यु हुई. 2000 और 2016 के बीच देखा गया कि लंबे समय तक काम करने के कारण है।पश्चिमी प्रशांत और दक्षिण-पूर्व एशिया के क्षेत्रों में रहने वाले लोगों में यह ज्यादा देखने को मिल रही है।

यह भी पढ़ें: चक्रवात ताऊते ने मचा रखी है तबाही,महाराष्ट्र के बाद गुजरात में हड़कंप

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है