आखिर क्यों है पाकिस्तान खौफ़ में? क्यों कर रहा कश्मीर मुद्दे पर इसराइल की चर्चा?

0
668

कश्मीर पर मोदी सरकार की नीति को लेकर पाकिस्तान में इसराइल की चर्चा ख़ूब ज़ोरों-शोरों पर चल रही है। पाकिस्तान में कहा जा रहा है कि भारत की कश्मीर में आक्रामकता और आत्मविश्वास के पीछे इसराइल का बड़ा हाथ है। 

पाकिस्तान और इसराइल के बीच राजनयिक संबंध नहीं हैं। पाकिस्तान में इसकी मांग उठ रही थी कि कश्मीर पर अरब के मुस्लिम देशों से भारत के ख़िलाफ़ समर्थन नहीं मिल रहा है, तो क्यों न इसराइल से राजनयिक संबंध बहाल कर लिये जाए। दूसरी तरफ़ भारत के अरब देशों से भी अच्छे संबंध हैं और इसराइल से भी गहरी दोस्ती है।

गुरुवार को इस मसले पर पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय की तरफ़ से स्पष्टीकरण दिया गया। पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉ मोहम्मद फ़ैसल ने कहा, ”इसराइल के साथ हमारी नीति बिल्कुल स्पष्ट है और इसमें कोई बदलाव नहीं आएगा।”

पाकिस्तान ने आज तक इसराइल को मान्यता नहीं दी है। मुशर्रफ़ के वक़्त में पाकिस्तान ने इसराइल से राजनयिक संबंध बनाने की कोशिश की थी। उस वक़्त के पाकिस्तानी विदेश मंत्री ख़ुर्शीद महमूद कसूरी और इसराली विदेश मंत्री की तुर्की में मुलाक़ात भी हुई थी।

हालांकि यह कोशिश भी नाकाम रही थी क्योंकि पाकिस्तान में इसे लेकर व्यापक विरोध होने लगा था। कश्मीर में हालिया संकट को लेकर पाकिस्तान में एक बार फिर से बहस शुरू हो गई है कि इसराइल को लेकर फिर से सोचने की ज़रूरत है।