Fast food की आपूर्ति करने वाले बड़े ब्रांड छोटे शहरों में भी बना रहे हैं अपनी पहुंच

एक वक़्त था जब शहर के लोग ही Fast food को खाना पसंद करते थे लेकिन देखते ही देखते हालात इतने बदल गए हैं कि शहर के साथ साथ गांव में भी लोग Fast food के दीवाने होने लगे हैं. वैसे तो दुनियाभर में फास्ट फूड के शौकीनों की कमी नहीं है। मगर भारत में फास्ट फूड पसंद करने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। Edelweiss Securities की एक हालिया रिपोर्ट के मुताबिक भारत के Quick Service Restaurant (QSR) मार्केट में अब से लेकर वित्त वर्ष 2025 तक 23 प्रतिशत तक इजाफा होने की उम्मीद है, क्योंकि फास्ट फूड की आपूर्ति करने वाले तमाम बड़े ब्रांड भारत के छोटे शहरों में अपनी पहुंच बना रहे हैं।

Edelweiss Securities की रिपोर्ट के मुताबिक इस मामले में Covid-19 QSR के लिए फायदेमंद साबित हुआ है। खासकर उपभोक्ता परिचित ब्रांडों की तरफ शिफ्ट हुए हैं। महामारी के कारण लगे Lockdown ने बाजार से निश्चित सप्लाई को भी पूरी तरह हटा दिया। बता दें कि रिपोर्ट में इस बात का भी संकेत दिया गया है कि QSR चेन मार्केट अगले पांच वर्षों में खाद्य सेवाओं के बाजार में सबसे अधिक बढ़ने वाला होगा।

वित्त वर्ष 20-25 में QSR चेन मार्केट के सबसे ज्यादा इजाफा होने वाले सब-सेगमेंट होने का अनुमान लगाया गया है। यह करीब 23 प्रतिशत होगा। Fast Food Chain भारत के Food Service Market की अब भी पांच प्रतिशत से कम हैं। जबकि वैश्विक स्तर पर यह करीब 20 प्रतिशत हैं। एडलवाइस ने टेक्नोपैक के डेटा का हवाला देते हुए अपने शोध में कहा कि वित्त वर्ष 2020 में भारत के Food Service Market के 4,236 बिलियन रूपए रहने का अनुमान था।

Covid-19 के कारण लगे Lockdown के चलते Food Service Industry को एक झटका लगा है। हालांकि बड़े ब्रांड अपनी मौजूदा वितरण क्षमताओं को बढ़ाकर बिजनेस पर पड़ने वाले प्रभावों की भरपाई करने के लिए तत्पर हैं। QSR ने कोविड-19 से सबक लेते हुए Store / Non-Delivery पर फोकस किया है।

यह भी पढ़ें: Gujrat में होगा दुनिया के सबसे बड़े stadium का उद्घाटन

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है