Coronavirus से अगर आप परेशान हैं तो आपके लिए नई ख़बर कुछ राहत भरी नहीं हैं। Vaccine लगवाने के बाद अगर आप खुश हो रहे हैं कि आपकी जान मेह्फूस है तो आप गलत हैं। Corona महामारी के बीच Black Fungus के बाद अब White Fungus की दस्तक से मुश्किलें बढ़ गई हैं। बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के Institute of Medical Sciences के न्यूरोलॉजी विभाग के डॉ.बताते हैं कि White Fungus को चिकित्सकीय भाषा में कैंडिडा कहते हैं। ये Fungus फेफड़ों के साथ रक्त में घुसने की क्षमता रखता है। रक्त में पहुंचने पर इसे कैंडिडिमिया कहते हैं। White Fungus इसलिए अधिक खतरनाक है क्योंकि शरीर के हर अंग को प्रभावित करता है। फेफड़ों तक पहुंचे, तो लंग बॉल कहते हैं। सीटी स्कैन जांच में फेफड़ों के भीतर यह गोल-गोल दिखाई देता है। बता दें कि Corona से सर्वाधिक नुकसान Lungs को हो रहा है। White Fungus भी Lungs पर हमला करता है, अगर Corona मरीजों में इसकी पुष्टि हुई, तो जान को खतरा बढ़ सकता है।

Black के मुक़ाबले White Fungus के लक्षण थोड़े अलग होते हैं

• White Fungus फेफड़ों में पहुंच गया तो खांसी, सांस में दिक्कत, सीने में दर्द और बुखार भी हो सकता है।
• संक्रमण जोड़ों तक पहुंच गया तो आर्थराइटिस जैसी तकलीफ महसूस होगी, चलने-फिरने में दिक्कत संभव।
• मस्तिष्क तक पहुंचा तो सोचने विचारने की क्षमता पर असर, सिर में दर्द या अचानक दौरा आने लगेगा
• त्वचा पर छोटा और दर्द रहित गोल फोड़ा जो संक्रमण की चपेट में आने के एक से दो सप्ताह में हो सकता है।

डॉ. के मुताबिक ये Fungus त्वचा, नाखून, मुंह के भीतरी हिस्से, आमाशय, किडनी, आंत व गुप्तागों के साथ मस्तिष्क को भी चपेट में ले सकता है। मरीज की मौत ऑर्गन फेल होने से हो सकती है। जो ऑक्सीजन या Ventilator पर हैं, उनके उपकरण जीवाणु मुक्त होने चाहिए जो ऑक्सीजन Lungs में जाए वह Fungus से मुक्त होनी चाहिए। White Fungus में Chest infection का खतरा बढ़ जाता है। यह नवजात शिशु में भी हो सकता है। जिन मरीज का Rapid Antigen और RT PCR negative है। उन्हें भी Fungus का Test कराना चाहिए।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है