जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आते हैं राजनीति पार्टियां मतदाताओं को लुभाने के लिए तमाम कोशिशें करती हैं। पश्चिम बंगाल में भी चुनाव को लेकर सियासी पार्टियां मतदाताओं को लुभाने में जुटी हुई हैं। लेकिन इस बीच कुछ नेता मतदाताओं को डरा धमका कर मतदाताओं को अपने पाले में करने की कोशिश कर रहे हैं। दरअसल ममता सरकार में कृषि मंत्री तपन दासगुप्ता ने मतदाताओं को गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी है।

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक तपन दासगुप्ता ने विधानसभा चुनाव के दौरान वोट ना मिलने पर मतदाताओं को गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी है। मिली जानकारी के मुताबिक टीएमसी नेता ने हुगली में एक बैठक के दौरान ये धमकी दी है। तपन दासगुप्ता ने रैली में कहा कि जिन इलाकों से उन्हें वोट नहीं मिलेगाष उन इलाकों में बिजली और पानी नहीं पहुंचेगा। वे लोग बिजली, पानी के लिए बीजेपी से कह सकते हैं।

राकेश टिकैत ने बताई किसान आंदोलन की आगे की रणनीति

बता दें कि तपन दासगुप्ता 2011 में हुगली में सप्तग्राम से विधायक बने जिसके बाद 2016 में भी उन्होंने यहां से जीत दर्ज की वहीं 2021 के चुनावों में भी तपन दासगुप्ता सप्तग्राम सीट से चुनावी मैदान में उतरे हैं

ऐसा पहली बार नहीं है जब टीएमसी के किसी उम्मीदवार ने विधानसभा चुनाव के दौरान पार्टी को वोट ना देने पर गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी है। बता दें कि इससे पहले टीएमसी विधायक हमीदुर रहमान भी मतदाताओं को धमकाते हुए नजर आए थे। उन्होंने एक जनसभा के दौरान कहा था कि चुनाव के बाद गद्दारों से निपटा जाएगा।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है