Coronavirus के ख़तरे को देखते हुए Uttar Pradesh सरकार ने UP Board की दसवीं कक्षा की परीक्षाएं रद्द कर दी हैं। इस साल दसवीं कक्षा के छात्रों को बिना Exam के ही अगली कक्षा में प्रमोट किया जाएगा। दसवीं की परीक्षाओं को रद्द करने का फैसला CM Yogi ने लिया है। Coronavirus की दूसरी लहर के कारण 10वीं की परीक्षाओं को रद्द करने के कयास काफी पहले से लगाए जा रहे थे, लेकिन इस पर आखिरी फैसला CM Yogi को करना था। Deputy Chief Minister Dinesh Sharma ने शनिवार को 10वीं Class की Board Exam को रद्द करने का एलान किया। वहीं, 12वीं की परीक्षा जुलाई के दूसरे सप्ताह में आयोजित की जाएगी। इस संबंध में जल्द ही विस्तृत समय सारिणी जारी की जाएगी।

बता दें कि Uttar Pradesh Secondary Education Council की कक्षा 12 की Board Exam हेतु इस वर्ष 26,10,316 छात्रों का पंजीकरण हुआ है। प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा कि इंटरमीडिएट की परीक्षा पूर्व की तरह इस वर्ष भी 15 कार्य दिवसों में संपादित की जाएगी। छात्रों के हित में प्रदेश सरकार द्वारा यह निर्णय लिया गया है कि प्रश्नपत्र की अवधि को मात्र डेढ़ घंटे रखा जाएगा तथा छात्रों को प्रश्नपत्र में दिए गए 10 प्रश्नों में से किन्ही 3 प्रश्नों का उत्तर देने की स्वतंत्रता होगी।

Deputy Chief Minister Dinesh Sharma ने बताया कि बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित विद्यालयों में कक्षा 6, 7 व 8 के छात्रों को अगली कक्षा में प्रोन्नति देने का निर्णय पूर्व में जारी किया जा चुका है। अब यह निर्णय लिया गया है कि यदि किसी बोर्ड विशेष का अन्यथा आदेश न हो तो प्रदेश के समस्त बोर्ड के समस्त विद्यालयों की कक्षा 6, 7 व 8 के छात्रों को अगली कक्षा में सामान्य प्रोन्नति दी जाए।

कक्षा 9 एवं 11 के छात्रों को उनकी Annual Exam के परीक्षाफल के आधार पर अगली कक्षा में प्रोन्नति दी जाए। यदि किसी विद्यालय में Annual Exam अभी तक संपादित नहीं हो पाई है तो वह छात्र के वर्ष भर किए गए आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर अगली कक्षा में प्रोन्नति देंगे। यदि कोई आंतरिक मूल्यांकन उपलब्ध नहीं है तो सामान्य रूप से छात्र को प्रोन्नति दी जाए।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है