एक Ventilator सालभर में न जाने कितने लोगों की जान बचाता है। यह जीवन रक्षक उपकरण काफी महंगा होता इसलिए हर Hospital में होता भी नहीं। Delhi-NCR के बड़े अस्पतालों में भी हमेशा वेंटिलेटर की कमी रहती है। इस तरह के हालात होते हुए भी सैकड़ों वेंटिलेटर (Hundreds of ventilators) यहां वहां धूल फांक रहे हैं। कहीं चलाने वाला नहीं तो कहीं किसी मामूली उपकरण की कमी रह गई है।

कोरोना वायरस कहर के बिच में Ventilator की मारामारी से पूरा मध्य यूपी (Middle UP) जूझ रहा है। बुंदेलखंड के जिलों में हालात कमोवेश बेहतर हैं। Middle UP के आठ जिलों में टेक्नीशियन व सपोर्टिंग (Technician & Supporting) स्टाफ न होने से दिक्कत ज्यादा है। पीएम केयर फंड (PM Care Fund) और पहले से मौजूद 250 से ज्यादा Ventilator में आधे से ज्यादा धूल फांक रहे हैं। सबसे ज्यादा खराब स्थिति कन्नौज मेडिकल कॉलेज (Kannauj Medical College) की है। यहां कुल 105 वेंटिलेटर थे, जिनमें 30 लखनऊ भेज दिेए गए हैं। बचे 75 इंस्टॉल तो हैं पर अनुपयोगी। जिला Hospital में 24 वेंटिलेटर स्टाफ न होने से बेकार हैं। यही हाल फर्रुखाबाद (Farrukhabad) का है।

यहां 16 Ventilator में एक भी काम नहीं कर रहा है, क्योंकि इन्हें चलाने वाला ही कोई नहीं है l वही कानपुर (Kanpur) एक मात्र जिला है जहां न Ventilator की दिक्कत है न संचालन के लिए प्रशिक्षित पैरामेडिकल स्टाफ (Trained paramedical staff) और डॉक्टर की। बरेली के 300 बेड कोविड अस्पताल (Covid Hospital) में 18 Ventilator लगाए गए थे जो एक साल से चले ही नहीं। प्रशिक्षित स्टाफ की कमी के चलते कोरोना वायरस काल में भी Ventilator बंद रहे। सीएमओ डाक्टर एसके गर्ग का कहना है कि जल्द ही ट्रेंड स्टाफ मिलने की संभावना है। उसके बाद Ventilator शुरू हो सकेगा।

इसी तरह बदायूं जिला Hospital में पांच, राजकीय मेडीकल कालेज (Government Medical College) में 103 में से 90, Shahjahanpur Medical College में 54, पीलीभीत में 16 में से 14 Ventilator चले ही नहीं हैं। सब जगह प्रशिक्षित स्टाफ नहीं है। जिला खीरी में 30 Ventilator धूल फांक रहे हैं। बिहार में 900 वेंटिलेटर PHC से लेकर मेडिकल कॉलेज अस्पताल (Medical College Hospital) तक में लगाए गए हैं। इनमें 250 से अधिक बंद हैं। किसी के लिए बिजली कनेक्शन नहीं है तो कहीं मानव संसाधन उपलब्ध नहीं हैं। Corona virus के इस काल मे 500 नए वेंटिलेटर (New ventilator) की आपूर्ति का निर्णय लिया गया। अभी आपूर्ति होनी शेष है।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है