Coronavirus के बीच इस बार भगवान श्रीराम का जन्मोत्सव 21 अप्रैल बुधवार को श्रद्धा और ख़ुशी के साथ मनाया जाएगा। 9 सालों के बाद इस बार Ram Navami पर 5 ग्रहों का शुभ संयोग बन रहा है। कई सालों बाद ऐसा योग आने पर लोगों में ख़ुशी का माहौल है।

5 ग्रहों का शुभ संयोग इस पर्व की शुभता में कई गुना वृद्धि करेगा। इससे पहले ऐसी ग्रहीय स्थिति 2013 में बनी थी। 21 अप्रैल को नवमी शाम 7 बजे तक रहेगी। अश्लेषा नक्षत्र रात 3.15 बजे तक और Ram जन्म के समय सूल योग रहेगा। भगवान राम का जन्म Ram Navami तिथि को दोपहर 12 बजे के बाद कर्क राशि में हुआ था। इस बार यह संयोग सुबह 11.05 से दोपहर एक बजे के बीच रहेगा। साथ ही लग्न में स्वग्रही चंद्रमा, सप्तम भाव में स्वग्रही शनि और दशम भाव में सूर्य बुध और शुक्र के साथ रहेंगे। Ram Navami पर यह शुभ संयोग मानव जीवन को अधिक सुखमय बनाएगा।

ज्योतिषाचार्य के मुताबिक भगवान Ram की राशि कर्क हैं। इस बार Ram Navami के दिन चंद्रमा कर्क राशि में रहेगा। इसलिए जो बच्चे Ram Navami के दिन जन्मेंगे, उनकी कर्क राशि होगी। कर्क राशि में चंद्रमा के स्वगृही रहने से पर्व अधिक मंगलकारी रहेगा।

यह भी पढ़ें: Pradosh Puja Vidhi: आज शुक्र प्रदोष को इस विधि से करें…

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है