देशभर में रोजाना सामने आ रहे Corona के नए मामले पिछले साल के सारे रिकॉर्ड तोड़ते नजर आ रहे हैं। लगातार दूसरे दिन 2 लाख से ज्यादा मामले सामने आने से सरकार की टेंशन बढ़ गई है। राज्य सरकारें भी तमाम जरूरी कदम उठा रही हैं लेकिन अगर आप कोरोना से खुद को बचाना चाहते हैं तो इसका सिर्फ एकमात्रा उपाय है, वह है सावधानी बरतना। सावधानी बरतने के साथ ही कोरोना के नए लक्षणों पर भी नजर रखना जरूरी है। दरअसल म्यूटेशन के कारण कोरोना कुछ दिन बाद अपना रूप बदल रहा है जिसकी वजह से कोरोना के लक्षणों में भी बदलाव देखने को मिल रहा है

दरअसल डॉक्टर्स की मानें तो Corona की दूसरी लहर के दौरान इसके लक्षणों में मामूली और बहुत सूक्ष्म बदलाव देखने को मिले हैं, जिसकी वजह से वायरस की पहचान करना मुश्किल हो रहा है। दरअसल जो नए मामले सामने आ रहे हैं उनमें कई लोग ऐसे भी हैं जिन्हें ना तो बुखार आया है और ना ही सर्दी-जुकाम की शिकायत रही है। दरअसल ये लोग बदन दर्द, पेट दर्द और सिरदर्द की शिकायत लेकर डॉक्टर के पास पहुंचे और जब उनका आरटी-पीसीआर टेस्ट हुआ तो ये लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए।

डॉक्टर्स का कहना है कि पेट दर्द, डायरिया, उल्टी-दस्त और बदन दर्द की शिकायत करने वाले करीब 40 फीसदी मरीजों की Corona रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है। दरअसल इस तरह की शिकायतें होने पर लोग डॉक्टर से पास कम जाते हैं और घरेलू नुस्कों से ही इलाज करते हैं  लेकिन जब बीमारी ठीक नहीं होती है तो वे लोग डॉक्टर के पास जाते हैं और तब तक वायरस के कारण शरीर को काफी नुकसान पहुंच जाता है।

अगर Corona के नए लक्षणों की बात करें तो इसमें थकान, कमजोरी, बदन दर्द, सुस्ती, डायरिया, उल्टी और पेट दर्ज शामिल है। वहीं अगर पुराने लक्षणों पर नजर डालें तो सांस लेने में दिक्कत या सांस फूलना, सीने में दर्द या दबाव, गले में खराश, बोलने और चलने-फिरने में तकलीफ, दस्त, सिरदर्द, गंध का पता ना चल पाना शामिल है

यह भी पढ़ें: Corona को करना है कंट्रोल तो जंगली जानवरों की बिक्री पर…

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है