कर्नाटक में लॉकडाउन (Lockdown Karnataka) के बीच भी मनरेगा का काम जारी रहेगा. राज्य में तमाम पाबंदियों के बीच कर्मी काम कर सकेंगे. सरकार ने बुधवार को नई छूट का ऐलान किया है. इसके अलावा सरकार ने गरीबों के लिए मुफ्त भोजन की भी व्यवस्था की है. राज्य में बीते शुक्रवार को Corona virus की रोकथाम के लिए दो हफ्तों के Lockdown की घोषणा की गई थी.

समाचार एजेंसी के अनुसार, राज्य के मुख्य सचिव (राजस्व) एन मंजुनाथ प्रसाद (N. Manjunath Prasad) ने कहा, ‘MNREGA के तहत एक शर्त पर काम किया जा सकेगा कि एक लोकेशन (Location) पर 40 से ज्यादा कर्मी काम नहीं करेंगे. इस दौरान कोरोना वायरस संबंधी व्यवहार का पालन भी किया जाएगा.’ एक ओर जहां महाराष्ट्र, दिल्ली (Maharashtra, Delhi) जैसे प्रभावित राज्यों में हालात सुधरते नजर आ रहे हैं. वहीं, कर्नाटक (Karnataka) में कोविड-19 स्थिति लगातार बिगड़ रही है.

कर्नाटक सरकार (Government of Karnataka) ने बीते मंगलवार को घोषणा की है कि राज्य में 24 मई तक Lockdown के दौरान ‘इंदिरा कैंटीन’ में मुफ्त भोजन मिलेगा. जरूरतमंदों को दिन में तीन बार भोजन कराया जाएगा. मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा (Chief Minister BS Yeddyurappa) ने कहा, ‘पाबंदियों के साथ आई मुश्किलों को आसान करने के लिए, गरीबों, प्रवासियों और जरूरतमंद कर्मियों को बेंगलुरु और पूरे राज्य में 24 मई तक इंदिरा कैंटीन (Indira Canteen) में मुफ्त तीन बार भोजन कराया जाएगा.’

www.covid19india.org के आंकड़े बताते हैं कि राज्य में अब तक 20 लाख 53 हजार 191 कोरोना वायरस के मरीज मिल चुके हैं. इनमें से 20 हजार 368 कोरोना मरीजों की मौत हो चुकी है. हालांकि, देश में Active case की संख्या 5 लाख 92 हजार 182 है. यह आंकड़ा देश में सबसे ज्यादा है. अब तक 14 लाख 40 हजार 621 मरीज स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं. बीते बुधवार को राज्य में 39 हजार 998 मरीज मिले हैं.

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है