राहुल गांधी ने कोरोना के बढ़ते केसों के बाद CBSE परीक्षाएं कराने के फैसले पर चिंता जाहिर की है। उन्होंने रविवार को कहा कि देशभर में कोरोना ने दोबारा रफ़्तार पकड़ी है। इसीलिए (COVID-19)  को देखते हुए सीबीएसई परीक्षाएं 4 मई से कराने के फैसले पर दोबारा सोचना चाहिए।

उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि कोरोना की इस खतरनाक सेकंड वेव को ज़हन में रखते हुए CBSE परीक्षाओं को लेकर फिर से विचार किया जाना चाहिए। इस पर कोई भी फैसला लेने से पहले सभी पक्षों से सलाह लेनी चाहिए।

राहुल गांधी ने पूछा, “भारत सरकार कितनी बार देश के युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ करना चाहती है?” इससे पहले भी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक को पत्र लिखकर केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) परीक्षाओं को रद्द करने की छात्रों की मांग के बारे में बताया है। पत्र लिखने के अलावा भी उन्होंने ट्वीट पर सीबीएसई के खिलाफ अपनी नाराजगी जाहिर की थी।

यह भी पढ़ें: CBSE के परीक्षा नियंत्रक ने दिया बड़ा बयान, 10-12वीं के छात्र रहें अलर्ट

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है