अब इजरायल और फलस्तीनियों के बीच युद्ध में तब्दील होता जा रहा है। यरुशलम की अल अक्श मस्जिद पर जुमे की नमाज से संघर्ष शुरू हुआ था रातभर दोनों ही तरफ से राकेट हमले होते रहे। गाजा पट्टी पर इजरायल के हमले में मरने वालों की संख्या 24 पहुंच गई है। इसमें नौ बच्चे भी शामिल हैं।

इजरायली पुलिस और फलस्तीनियों के बीच संघर्ष में सात सौ लोग घायल हो गए हैं। पांच सौ घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया दिया गया है। संघर्ष के दौरान गाजा पट्टी से हमास के द्वारा इजरायल पर दागे गए राकेट के जवाब में इजरायल ने ताबड़तोड़ राकेट हमले किए। अब दोनों ही ओर से पिछले दो दिनों से राकेट से हमले किए जा रहे हैं। हमास ने कहा कि उसने 45 राकेट दागे। जबकि इजरायली सेना के प्रवक्ता जोनाथन कोनरिकस के अनुसार हमास ने लगभग दो सौ राकेट हमले किए हैं। इनमें से अधिकतर राकेट जमीन पर गिरे है। एक राकेट से इजरायल के शहर अश्कलोन में सात मंजिला इमारत को नुकसान पहुंचा है। यहां सात इजरायली घायल हो गए।

इन हवाई हमलों के साथ ही गाजा पट्टी सीमा पर हमले शुरू हो गए हैं। इजरायल की एक जीप पर ऐसा ही हमला किया गया। हमलों को देखते हुए इजरायल ने अपनी नेशनलिस्ट फ्लैग परेड के रूट को परिवर्तित कर दिया है। पूर्वी यरुशलम में संघर्ष के मामले को फलस्तीन ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उठाना शुरू कर दिया है। राष्ट्रपति महमूद अब्बास ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से यरुशलम में मुस्लिम और ईसाइयों के बीच हिंसा को रुकवाने की अपील की है। अरब लीग के महासचिव अहमद अबुल घेइत ने गाजा पट्टी पर इजरायल के हमलों की निंदा की है।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है