साल 2021 का पहला Surya Grahan 10 जून को लगेगा। यह वलयाकार सूर्य ग्रहण होगा। भारतीय समयानुसार सुबह 11:42 बजे आंशिक सूर्य ग्रहण होगा और यह दोपहर 3:30 बजे से वलयाकार रूप लेना शुरू करेगा। इसके बाद फिर शाम 4:52 बजे तक आकाश में सूर्य अग्नि वलय यानी आग की अंगूठी की तरह दिखाई देगा। दुरई ने कहा कि Surya Grahan भारतीय समयानुसार शाम लगभग 6:41 बजे समाप्त होगा। विश्व में कई संगठन Surya Grahan की घटना के सीधे प्रसारण की व्यवस्था कर रहे हैं।

ये Surya Grahan इसलिए भी खास है, क्योंकि इसी दिन Shani Jayanti और ज्येष्ठ अमावस्या भी है। शनि जयंती पर ग्रहण का योग करीब 148 साल बाद बना है। इससे पहले शनि जयंती पर Surya Grahan 26 मई 1873 को हुआ था। इस बार लगने वाले Surya Grahan को भारत में केवल अरुणाचल प्रदेश और लद्दाख के कुछ हिस्सों में ही सूर्यास्त से कुछ समय पहले देखा जा सकेगा। बता दें कि अरुणाचल प्रदेश में दिबांग वन्यजीव अभयारण्य के पास से शाम लगभग 5:52 बजे इस खगोलीय घटना को देखा जा सकेगा। वहीं, लद्दाख के उत्तरी हिस्से में जहां, शाम लगभग 6:15 बजे सूर्यास्त होगा, शाम लगभग 6 बजे सूर्य ग्रहण देखा जा सकेगा। दुरई ने बताया कि उत्तरी अमेरिका, यूरोप और एशिया के बड़े क्षेत्र में सूर्य ग्रहण को देखा जा सकेगा।

यह भी पढ़ें: 9 June – जानें किस राशि के जातक मधुमेह, रक्तचाप जैसी…

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है