करवाचौथ के दिन उनके शहीद होने की खबर मिलते ही गांव में मातम छा गया

बांग्लादेश सीमा पर फिरोजाबाद के गांव चमरौली निवासी बीएसएफ जवान विजयभान शहीद हो गए। परिजनों को मिली सूचना के अनुसार बांग्लादेश के सैनिकों द्वारा की गई फायरिंग में विजयभान को गोली लगी थी। जिसके कारण उनकी मृत्यु हो गई।

भारत का वो शहर जहाँ जन्मे 4 नोबेल विजेता

Image result for bsf soldier killed by bangladesh FAMILY बता दे कि विजयभान बीएसएफ में हेड कांस्टेबल के पद पर तैनात थे। करवाचौथ के दिन उनके शहीद होने की खबर मिलते ही गांव में मातम छा गया। और उनकी पत्नी सुनीता देवी का रो-रोकर बुरा हाल है। साथ ही बाकि परिजन भी शोक में है। उनकी पत्नी से बातचीत के दौरान उन्होंने बताया कि गुरुवार को करवाचौथ का व्रत होने के कारण उनकी विजयभान से फोन पर बात हूई थी। फोन पर बातचीत के दौरान विजयभान ने अपनी पत्नी सुनीता देवी को सेहत का ख्याल रखने की सलाह दी थी।

ODD EVEN : जानिए किसे मिलेगी छूट और किस पर होगा लागू

परिजनों ने बताया कि विजयभान तीन भाइयों में दूसरे नंबर के हैं। सबसे बड़े भाई सत्यभान फौज से सेवानिवृत्त हैं। जबकि छोटे भाई हरभान सिंह गांव में रहकर खेती- बाड़ी संभालते हैं।  विजयभान के दो बेटे विवेक, सुमित यादव हैं। बड़ा बेटा विवेक एयरफोर्स में बंगलुरू में तैनात है। वहीं छोटा बेटा सुमित भी इंटर करने के बाद प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा है। विजयभान की शहिद होने की खबर मिलते ही उनका बेटा विवेक छुट्टी लेकर घर आया हुआ है।  शुक्रवार शाम तक शव आने की सूचना बीएसएफ के अफसरों ने दी है।