पूरा देश NRC और CAA की आग में जल रहा है। Jamia College से शुरू हुई यह हिंसा धीरे-धीरे पूरे देश में फैलती चली गई।

देश में अगर पिछले काफी समय से सबसे ज्यादा हंगामा किसी चीज को लेकर देखा गया है तो वह NRC और CAB की वजह से देखा गया। पिछले कई महीनों से पूरा देश NRC और CAA की आग में जल रहा है। Jamia College से शुरू हुई यह हिंसा धीरे-धीरे पूरे देश में फैलती चली गई और शायद ही देश का कोई ऐसा हिस्सा बचा हो जहां पर एनआरसी और कैब को लेकर विरोध प्रदर्शन ना किया गया हो बल्कि विरोध प्रदर्शन आज तक के जारी है। एनआरसी और कैब का विरोध मुस्लिम लोगों ने ही नहीं बल्कि देश के छात्रों, बॉलीवुड हस्ती, विपक्षी पार्टी के नेता और हिंदू लोगों ने भी किया है।

CAB पर अभी भी बवाल जारी, लोगों ने कर्फ्यू में दी ढील…

Supreme court का CAB और NRC Bill को लेकर बड़ा बयान

जानकारी के लिए बता दें कि Citizenship Amendment Act बना तो इसके खिलाफ Supreme Court में लाखों याचिकाएं भेजी गई और उनमें कहा गया कि यह कानून भारत के संविधान के खिलाफ है। इन सभी याचिकाओं में इस कानून को पूरी तरह से रद्द करने की अपील गई है। सुप्रीम कोर्ट 22 January से न सभी याचिकाओं पर सुनवाई शुरू कर देगा लेकिन सुनवाई शुरू करने से पहले ही सुप्रीम कोर्ट ने एक बड़ा बयान देकर सरकार की मुश्किलें खड़ी कर दी है।

सौ विपक्ष की, एक शाह की, आखिर कैसे दोनों सदनों से पास हुआ CAB…

Supreme court का CAB और NRC Bill को लेकर बड़ा बयान

Citizenship Amendment Law को लेकर विरोध प्रदर्शन पूरे देश में चल रहा है। कई जगह तो यह विरोध प्रदर्शन हिंसा का रूप ले लेता है और इससे देश का काफी नुकसान होता है। सुप्रीम कोर्ट ने इस पर चिंता जताते हुए कहा है कि देश इस समय बहुत ही कठिन दौर से गुजर रहा है। इस दौर में लोगों से शांति की अपील करनी चाहिए। 22 जनवरी से सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू हो जाएगी तो यह देखना काफी दिलचस्प होगा कि सुप्रीम कोर्ट किस तरफ जाता है।

असम में CAB के खिलाफ तेज़ी से बढ़ रहा बवाल, पुलिस ने चलाई गोलियां…