स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बेहद फायदेमंद होता है ‘सरसों का साग’

हर सब्ज़ी के या कह लीजिए कि हर चीज़ को खाने के अपने अलग फ़ायदे हैं इसलिए ही हर सीज़न की सब्ज़ी और फल ज़रूर खाने चहिए। सर्दियों में हरी सब्ज़ी खूब आती हैं इसलिए हरी सब्ज़ियों को खाने में ज़रूर शामिल करें। सरसों का साग और मक्के की रोटी सर्दियों की फेवरेट डिश मानी जाती है. दरअसल मक्के की रोटी और सरसों का साग का कॉम्‍बिनेशन जबरदस्‍त होता है। सरसों का साग स्‍वास्‍थ्‍य के नजरिए से भी बेहद फायदेमंद होता है। इसे बनाने में थोड़ी मेहनत तो ज़रूर लगती है लेकिन इसे खाते वक़्त की गई मेहनत का एहसास नहीं होता।

सामग्री

  • सरसों का साग – 500 ग्राम
  • पालक 150 ग्राम
  • बथुआ 100 ग्राम
  • टमाटर 250 ग्राम
  • प्याज 01 (बारीक कटी हुई)
  • लहसुन 05 कलियां (बारीक कटी हुई)
  • हरी मिर्च 02 नग
  • अदरक 01 बड़ा टुकड़ा
  • सरसों का तेल 02 बड़े चम्मच
  • बटर/घी 02 बड़े चम्मच
  • हींग 02 चुटकी
  • जीरा 1/2 छोटा चम्मच
  • हल्दी पाउडर 1/4 छोटा चम्मच
  • मक्के का आटा 1/4 कप
  • लाल मिर्च पाउडर 1/4 छोटा चम्मच
  • नमक स्वादानुसार

इस तरह बनाएं सरसों का साग

  1. सरसों, पालक और बथुआ को अच्छी तरह से साफ करके धो लें। इन्हें छलनी में रख दें, जिससे पानी निथर जाए। इसके बाद इन्हें मोटा-मोटा काट लें और कुकर में एक कप पानी के साथ डालें और मध्यम आंच पर एक सीटी आने तक उबाल लें।
  2. इसके बाद कुकर को उतार कर रख दें और उसकी सीटी निकलने तक प्रतीक्षा करें।
  3. अब टमाटर और अदरक के छोटे-छोटे टुकड़े कर लें और फिर उसे हरी मिर्च के साथ मिक्सी में डाल कर बारीक पीस लें।
  4. कढ़ाई में एक चम्मच तेल डालें और गरम करें। तेल गरम होने पर उसमें मक्के का आटा डालें और हल्का ब्राउन होने तक भून लें।
  5. आटे को एक प्याली में निकालने के बाद कढ़ाई में बचा हुआ तेल डालें और उसे गरम करके उसमें हींग और जीरा डाल दें और दस सेकेंड तक भून लें।
  6. उसके बाद प्याज और लहसुन डालें और हल्का गुलाबी होने तक भून लें। उसके बाद हल्दी पाउडर, टमाटर का पेस्ट और लाल मिर्च डालें और मसाले को तब तक भूनें, जब तक कि वह तेल न छोड़ने लगे।
  7. मसाले के भुनने के दौरान कुकर से साग निकाल लें और उन्हें ठंडा करके मिक्सी में दरदरा पीस लें। अब भुने हुए मसाले में पिसा साग डाल दें। साथ ही आवश्यकतानुसार पानी, मक्के का आटा और नमक भी डालें और अच्छी तरह से चला दें।
  8. इसके बाद इसे मध्यम आंच पर पकाएं और उबाल आने के 5-6 मिनट बाद तक पकाने के बाद गैस बंद कर दें।

मक्का या भुट्टा में कार्बोहाइड्रेट, फोलिक एसिड, कैरोटीन, मिनरल्स, विटामिन और आयरन प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं, जिससे यह कई रोगों से लड़ने में सहायक होता है और शरीर को हष्ट-पुष्ट बनाता है। इसीलिए ठंड के मौसम में मक्‍के की रोटी और सरसों का साग खाया जाता है।

सामग्री

मक्के का आटा 400 ग्राम,

मक्खन 02 बड़े चम्मच,

गरम पानी आवश्यकतानुसार,

नमक स्वादानुसार

इस तरह बनाएं मक्के की रोटी

  1. मक्के/मक्की के आटे को एक बर्तन में निकाल कर छान लें।
  2. इसके बाद आटे में स्वादानुसार नमक मिला लें और फिर गुनगुने पानी की सहायता से आटा को गूंथ लें।
  3. आटे को ढक कर 15-20 मिनट के लिए रख दें। इससे आटा फूल कर सेट हो जायेगा और रोटियां बेहद स्वादिष्ट बनेंगीं।
  4. मक्के की रोटियां बनाने के पहले इसे एक बार हथेलियों की सहायता से खूब अच्छी तरह से मसल लें, जिससे यह बेहद मुलायम हो जाए।
  5. जब आटा अच्छी तरह से मुलायम हो जाए, तब उसमें से लोई बनाने भर का आटा लें और उसे हथेली से दबा कर बड़ा कर लें। इसके बाद हाथों में थोड़ा पानी लगाएं और लोई को उंगलियों की सहायता से दबा कर 5-6 इंच व्यास की रोटी बना लें।
  6. अब रोटी को गरम तवा पर डालें। जब एक तरफ की रोटी सिक जाए, तो उसे पलट दें और दूसरी तरफ से भी सेक लें।
  7. इसके बाद रोटी को गैस की आंच पर साधारण रोटी की तरह घुमा-घुमाकर सेंक लें।
  8. मक्के की रोटी तैयार है। इस पर मक्खन या देसी घी लगाएं और गर्मा-गरम सरसों के साग के साथ आनंद लें।

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है